आदिवासी महिला की सरेआम पिटाई, कंधे पर लड़के को बैठाकर पत्थरों और डंडों से मारा

गुना ज़िले के सांगई गांव का मामला, महिला के पांच महीने की गर्भवती होने के बाद भी नहीं आई ससुराल वालों को दया

Updated: Feb 16, 2021, 09:36 AM IST

आदिवासी महिला की सरेआम पिटाई, कंधे पर लड़के को बैठाकर पत्थरों और डंडों से मारा
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

भोपाल। मध्यप्रदेश के गुना में एक आदिवासी महिला की उसके ससुराल वालों ने सरेआम पिटाई कर दी। गुना के सांगई गांव में महिला के कंधों पर एक लड़के को बैठाकर ससुराल पक्ष ने पत्थर डंडों से धुनाई कर दी। महिला पांच माह की गर्भवती है। पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद महिला के ससुराल पक्ष वालों पर मामला तो दर्ज हुआ, लेकिन ज़मानती धाराओं में मामला दर्ज कर महिला के ससुराल वालों को छोड़ दिया गया। 

यह पूरी घटना 9 फरवरी को है। लेकिन चूंकि इस घटना के वीडियो लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं इसलिए इस खबर की पड़ताल भी हो रही है। दरअसल पिछले दो महीने से महिला सांगई गांव में रह रही थी। महिला का पति उसे किसी डेमा नामक व्यक्ति के घर छोड़ गया था। पति ने महिला से कहा था कि वह अब उसे अपने पास नहीं रख सकता इसलिए वह उसे अब डेमा के घर छोड़कर जा रहा है। 

इसके बाद से महिला डेमा के साथ ही रह रही थी। लेकिन इसी बीच महिला के ससुराल वाले आ धमके। उन्होंने महिला से ससुराल चलने के लिए कहा। महिला ने उनके साथ जाने से इनकार कर दिया। जिससे उसके ससुराल पक्ष वाले आग बबूला हो गए। उन्होंने महिला के कंधों पर एक लड़के को बैठाया और उसे घुमाने लगे। इस बीच महिला पर लाठी, डंडों और बैट से वार किया जाता रहा। पति ने फोन किया और पत्नी को नहीं मारने के लिए कहा, लेकिन कोई नहीं माना। 

महिला की पिटाई करने में उसके ससुर, देवर और जेठ शामिल थे। पुलिस ने तीनों के खिलाफ मामला तो दर्ज किया, लेकिन ज़मानती धाराओं में मामला दर्ज करने की वजह से तीनों को थाने में ही ज़मानत मिल गई। हालांकि गुना एसपी राजीव मिश्रा ने कहा है कि यह मामला उनके आने से पहले का है। मामले में आरोपियों पर और गंभीर धारा लगाई जाएंगी और उन पर सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।