बीच चुनाव बीजेपी के हो लिए राहुल लोधी, 35 करोड़ का हिसाब बताते-बताते खुद बदला पाला

कांग्रेस विधायक राहुल लोधी: उपचुनाव में प्रचार के दौरान बिकाऊ विधायकों का हिसाब बताते-बताते ख़ुद बदल लिया पाला- राहुल लोधी का वीडियो वायरल, कांग्रेस ने पूछा, बताएं 50 करोड़ के हिसाब से कितने हुए

Updated: Oct 25, 2020, 05:43 PM IST

बीच चुनाव बीजेपी के हो लिए राहुल लोधी, 35 करोड़ का हिसाब बताते-बताते खुद बदला पाला
Photo Courtesy: Twitter

भोपाल। मध्य प्रदेश में दमोह से कांग्रेस विधायक राहुल लोधी के पाला बदलकर बीजेपी में जाने के बाद उनका एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में देखा जा सकता है कि राहुल लोधी पूर्व विधायकों को बिकाऊ बता रहे हैं और कह रहे हैं कि उन्होंने 35 करोड़ रुपए में आपके वोटों का सौदा कर लिया है। वीडियो वायरल होने के बाद अब कांग्रेस ने राहुल से पूछा है कि वह खुद कितने में बिके?

बताया जा रहा है कि यह वीडियो इसी हफ्ते का है जिसमें वह उपचुनाव वाले क्षेत्रों में कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इस दौरान राहुल लोधी कहते दिख रहे हैं कि, 'मत बेच दिया। यदि 67 हजार वोट इस विधानसभा क्षेत्र में पड़े हैं तो तकरीबन एक वोट की कीमत 5200 रुपए होती है। जब बीजेपी के लोग आपके गांव आएं तो उनसे बोलना की भैया 35 करोड़ के हिसाब से 5200 रुपए मेरे हुए वह आप हमें दो तब हम बीजेपी को वोट देंगे।

50 करोड़ के हिसाब से अब कितने हुए ?

राहुल लोधी के इस वीडियो के वायरल होने के बाद कांग्रेस नेता लोधी को जमकर निशाने पर ले रहे हैं। पूर्व मंत्री व विधायक पीसी शर्मा ने ट्वीट कर पूछा, '50 करोड़ रूपये के हिसाब से राहुल लोधी जी अब कितने हुए?' 

 

 

बता दें कि राहुल लोधी बड़ा मलहरा से विधायक रहे दलबदलू नेता प्रद्युम्न सिंह लोधी के चचेरे भाई हैं। प्रद्युम्न लोधी जब कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए तो राहुल को लेकर भी सवाल उठने लगे थे। लेकिन तब राहुल लोधी ने कहा था कि कांग्रेस ने ही उन्हें राजनीतिक रूप से सक्षम बनाया है और वे हमेशा कांग्रेस के साथ ही रहेंगे। राहुल लोधी ने उस वक्त कहा था कि हालात कैसे भी हों, वे कांग्रेस का साथ कभी नहीं छोड़ेंगे। लेकिन अपनी उन बातों को झुठलाते हुए राहुल लोधी ने आखिरकार वही किया जो उनके चचेरे बड़े भाई ने किया था। राहुल लोधी ने कहा था कि आनेवाले तीस साल बाद उनकी अगली संतानें भी याद करेंगी कि उनके पिता ऐसे वक्त में भी कांग्रेस का झंडा उठाकर अकेले चले थे। आरोप लगाए जा रहे हैं चुनाव से पहले बीजेपी ने राहुल लोधी को भी खरीद लिया।