इंदौर में सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवती ने की आत्महत्या, डिप्रेशन में आकर दी जान

पिता हैं सिक्योरिटी गार्ड, मां करती है घरों में काम, पेट काटकर बेटी को बनाया इंजीनियर, शादी की चल रही थी बात, अगले महीने ज्वाइन करनी थी नौकरी

Publish: Oct 25, 2021, 06:00 PM IST

इंदौर में सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवती ने की आत्महत्या, डिप्रेशन में आकर दी जान
Photo Courtesy: the telegraph

इंदौर। युवाओं में आत्महत्या की प्रवृत्ति किस कदर बढ़ती जा रही है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक के बाद एक इंजीनियरिंग फील्ड के छात्रों की मौत की खबर आ रही है। पिछले सप्ताह ही इंदौर निवासी IIT खड़गपुर के छात्र ने खुदकुशी की थी। अब शहर की एक  सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवती ने मौत को गले लगा लिया। रविवार को युवती घर पर अकेली थी।

माता-पिता काम पर गए हुए थे। जब वो घर लौटे तो बेटी का शव फांसी के फंदे पर लटका मिला। फांसी लगाने की खबर मोहल्ले में आग की तरह फैल गई। माता-पिता ने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी सॉफ्टवेयर इंजीनियर थी, हाल ही में उसकी नौकरी लगी थी, नवंबर में उसे नोएडा जाकर कंपनी में जॉब ज्वाइन करनी थी। पुलिस को युवती के कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

परिजनों का कहना है कि उनकी 22 वर्षीय बेटी कामिनी यादव कई दिनों से गुमसुम रहती थी। उसके डिप्रेशन में रहने की बात भी सामने आई है।

मृतका के पिता जयराम यादव एक बिल्डिंग में सिक्योरिटी गार्ड का काम करते हैं। वहीं मां लोगों के घरों में काम करके परिवार चलाने में मदद करती थी। कामिनी के तीन भाई बहन हैं। बताया जा रहा है कि कामिनी की शादी की बात भी चल रही थी। पुलिस अब इस मामले की जांच में जुटी है। पुलिस पड़ताल में जुटी है कि क्या युवती शादी की बात को लेकर परेशान थी या नौकरी की वजह से डिप्रेशन में थी।