इंदौर पुलिस मुख्यालय में थाना प्रभारी ने महिला ASI को मारी गोली, फिर खुद की कनपटी उड़ाई

आरोप है कि इंदौर के पुलिस मुख्यालय के भीतर ASI रंजना खांडे को भोपाल के थाना प्रभारी हाकम सिंह पवार ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से गोली मार दी, फिर ख़ुद पर भी बंदूक़ दाग़ दी. हाकम सिंह ने मौक़े पर ही दम तोड़ दिया और एएसआई को अस्पताल में भर्ती कराया गया है

Updated: Jun 24, 2022, 10:02 PM IST

इंदौर पुलिस मुख्यालय में थाना प्रभारी ने महिला ASI को मारी गोली, फिर खुद की कनपटी उड़ाई
Photo Courtesy: Lalluram

इंदौर। इंदौर में पुलिसकर्मियों के बीच मर्डर का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि इंदौर पुलिस मुख्यालय के कंपाउंड में एक टीआई ने अपने सर्विस रिवॉल्वर से एक महिला पुलिसकर्मी को गोली मारकर खुद भी उसी रिवॉल्वर से आत्महत्या कर ली। आरोपी थाना प्रभारी हाकम सिंह पवार भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ थे और 3 दिन की छुट्टी पर इंदौर में थे।

शुक्रवार दोपहर को घटना से ठीक पहले हाकम सिंह पवार इंदौर पुलिस मुख्यालय में पदस्थ ASI रंजना खांडे के साथ इंडियन कॉफी हाउस में कॉफी पीते दिखे थे। दोनों के बीच इस दौरान कुछ तकरार भी देखी गई थी। इसके बाद दोनों बाहर निकले और पुलिस हेडक्वॉटर कंपाउंड पहुंचते ही रंजना खांडे को हाकम सिंह पवार ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से सीने पर गोली मार दी। गोली लगते ही रंजना घायल होकर जमीन पर गिर पड़ीं। इसके बाद टीआई थाना प्रभारी हाकम सिंह पवार ने सर्विस रिवॉल्वर से खुद की कनपटी पर भी गोली चला दी। हाकम सिंह गोली लगते ही जमीन पर गिर पड़े और उनकी मौत हो गई। गोलियों की आवाज सुनकर पुलिसकर्मी वहां पहुंचे तो दोनों लहूलुहान पड़े मिले। रंजना को उठाने पर वो घायल मिलीं मगर हाकम सिंह दम तोड़ चुके थे।

यह भी पढ़ें: राज्य महिला आयोग के अध्यक्ष पद से शोभा ओझा का इस्तीफा, शिवराज सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

घटना की सूचना मिलते ही इंदौर पुलिस कमिश्नर हरि नारायणचारी मिश्र भी पुलिस मुख्यालय पहुंचे। उन्होंने घटना को प्रेम प्रसंग के चलते हत्या की आशंका बताया है। इंदौर पुलिस कमिश्नर ने अपने बयान में कहा है कि 'दोनों बैठकर कॉफी पी रहे थे.. आकस्मिक विवाद में महिला ASI पर गोली चलाई और बाद में आत्महत्या की कोशिश की गई, दोनों को अस्पताल ले जाया गया है। प्रथम दृष्ट्या मामला प्रेम प्रसंग का लग रहा है।' साक्ष्य़ जमा करने मौके पर एफएसएल व अन्य टीमें पहुंच गई हैं। पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।

भोपाल के एडिशनल डीसीपी राम सनेही मिश्रा का कहना है कि टीआई हाकम सिंह 6 फरवरी 2022 को भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ हुए थे। वह खटलापुरा इलाके में फ्लैट लेकर किराए से रहते थे। मूलत: तराना उज्जैन के रहने वाले हाकम सिंह भोपाल में अकेले ही रहते थे। 21 जून को तीन दिन की छुट्टी लेकर वे गए थे और गुरुवार को उन्हें ज्वाइन करना था।

पुलिस अधिकारिय़ों के मुताबिक ASI रंजना खांडे का ट्रैक रिकॉर्ड भी काफी खराब है। रंजना ने पहले भी एक एसआई समेत दो लोगों के खिलाफ IPC की धारा 376 का मामला दर्ज करवाया था। एएसआई ने टीआई हाकम सिंह पवार पर भी अपनी कार रखने का आरोप लगाया था। रंजना खांडे ने इसकी शिकायत पुलिस से की थी। मामले में पुलिस ने टीआई से भी पूछताछ की थी। हो सकता है कि थाना प्रभारी को भी रंजना ब्लैकमेल कर रही थी। लिहाजा टीआई ने ये कदम उठाया। हालांकि पूरी सच्चाई जांच के बाद ही सामने आएगी।

दिनदहाड़े हुई इस गोलीबारी से पुलिस मुख्यालय में हड़कंप मच गया। लोग कुछ समझ पाते उससे पहले ही थाना प्रभारी हाकम सिंह पवार की मौत हो गई थी और गंभीर रूप से घायल ASI रंजना को पुलिस ने अस्पताल पहुंचाया। ASI रंजना खांडे इंदौर के बाबू शाखा में पदस्थ हैं।