सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के बाद बालाघाट के सोनेवानी जंगल में मिला बाघ का शव 

एक ही दिन में प्रदेश में दो बाघों के शव मिलने से मचा हड़कंप, आला अधिकारी जाँच में जुटे, आपसी संघर्ष में मौत होने की आशंका  

Updated: Apr 04, 2022, 08:00 AM IST

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के बाद बालाघाट के सोनेवानी जंगल में मिला बाघ का शव 

भोपाल। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में बाघिन की मौत की घटना सामने आने के बाद रविवार को ही बालाघाट जिले के दक्षिण सामान्य वन मंडल अंर्तगत वन परिक्षेत्र चिखलाबड़डी के सोनेवानी जंगल में भी एक बाघ की मौत हो गई है। प्रदेश में एक दिन में दो बाघों की मौत से हड़कंप मचा हुआ है। जहाँ बाघिन का शव पचमढ़ी सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के मोगरा नयाखेड़ा क्षेत्र में मिला। वहीं, बाघ का शव बालघाट के सोनेवानी जंगल में मिला। बाघ के शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद वन विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।  

बालघाट स्थित वन परिक्षेत्र लालबर्रा के चिखलाबडडी के सोनेवानी जंगल में बाघ का शव होने की सूचना मिलने पर वन विभाग के आला अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंच गए। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने जाँच के लिए डॉग स्कवाड को भी बुलाया। बाघ के शव का पोस्टमार्टम करवाने का बाद बिसरा रिपोर्ट को जाँच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया है। घटनास्थल पर पहुंचे सीसीएफ नरेंद्र कुमार सनोडिया के अनुसार बाघ के मौत की वजह स्पष्ट नहीं है। लेकिन प्रारंभिक जाँच में शिकार के लिए बाघों के बीच लड़ाई होने के कारण एक बाघ की मौत होने की आशंका जताई जा रही है। आपसी संघर्ष को ही दोनों बाघों की मौत के लिए जिम्मेदार माना जा रहा है  

वहीं, सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में मिले बाघिन के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार बाघिन की पसली और रीढ़ की गड्डियां टूटी हुई मिली हैं। एक ही दिन में प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में दो बाघों के शव मिलने से वन विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। विभाग के आला अधिकारी दोनों मामलों की जाँच कर रहे हैं।