Lokayukta Raid: बड़नगर सीएमओ के घर लोकायुक्त का छापा, काली कमाई उजागर

Corruption in MP: आय से अधिक संपत्ति मामले में नगर पालिका बड़नगर के सीएमओ के तीन ठिकानों एक साथ हुई कार्रवाई, आय से दस गुना ज्यादा की संपत्ति का खुलासा

Updated: Sep 15, 2020 02:36 PM IST

Lokayukta Raid: बड़नगर सीएमओ के घर लोकायुक्त का छापा, काली कमाई उजागर
Photo Courtesy: Navbharat times

उज्जैन। लोकायुक्त पुलिस ने बड़नगर नगर पालिका के प्रभारी सीएमओ कुलदीप तिनसुक के घर पर छापेमार कार्रवाई की। लोकायुक्त को नगर पालिका अफसर के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिली थी। लोकायुक्त ने करोड़ों की अवैध संपत्ति का खुलासा किया है। कुलदीप तिनसुक घर से सोने-चांदी के गहने और लाखों का कैश मिला है। प्रभारी सीएमओ के उज्जैन स्थित मकान की कीमत करीब 80 लाख रुपये है।

लोकायुक्त पुलिस ने उज्जैन के बड़नगर, माकड़ोन और उज्जैन शहर में एक साथ छापा मारा है। नगर पालिका अफसर के घर से निवेश के कई कागजात मिले हैं। माकड़ोन में 80 लाख रुपए का मकान,  2 लग्जरी कारें, 2 बाइक, 2 स्कूटी, सोने-चांदी के जेवर समेत, 4 लाख रुपए कैश मिला है। लोकायुक्त पुलिस का कहना है कि जो नोट मिले हैं वे बिल्कुल नए नोट हैं।

अफसर ने उज्जैन रेलवे स्टेशन के सामने कमर्शियल निर्माण की परमिशन ले रखी है, जहां होटल बनाने का काम जारी है। वहीं उज्जैन में एक दो मंजिला मकान, 4 लाख कैश, बड़ी मात्रा में सोने-चांदी के जेवर मिले हैं। जिनकी कीमत लाखों में आंकी जा रही है। उसके परिवार में 40 बैंक खातों का खुलासा हुआ है। 

आय से 10 गुना अधिक संपत्ति का खुलासा

गौरतलब है कि प्रभारी सीएमओ कुलदीप तिनसुक नगर पालिका में 16 साल कार्यरत है। 2004 में पंचायत सचिव के रुप में नौकरी की शुरुआत की थी। अब कुलदीप राजस्व निरीक्षक के पद पर हैं। फिलहाल प्रभारी सीएमओ बड़नगर का प्रभार भी दिया गया है। लोकायुक्त की टीम मंगलवार सुबह पहुंची तब उसके घर एक दोस्त भी मौजूद था। सीएमओ ने अपने उस दोस्त के नाम भी कई प्रॉपर्टी खरीद रखी हैं। लोकायुक्त को अन्य लोगों के नाम से जमीन के कागजात भी मिले हैं। दोस्तों और रिश्तेदारों के नाम से जो प्रॉपर्टी है, उसकी भी जांच की जा रही है।16 साल के कार्यकाल में कुलदीप को अब तक करीब 30 लाख रुपये वेतन मिला है। लेकिन उसकी संपत्ति 3 करोड़ रुपये से ज्यादा की आंकी गई है।