बारिश बढ़ाएगी सर्दी, मध्यप्रदेश में गुरुवार से दिखेगा नए वेदर सिस्टम का असर

दो नए वेदर सिस्‍टम मध्यप्रदेश में करेंगे बारिश, कई जिलों में वर्षा के साथ ओले गिरने की भी आशंका, मौसम विभाग ने दर्जनभर जिलों में बारिश के लिए जारी की चेतावनी

Updated: Jan 05, 2022, 01:25 PM IST

बारिश बढ़ाएगी सर्दी, मध्यप्रदेश में गुरुवार से दिखेगा नए वेदर सिस्टम का असर
Photo Courtesy: aajtak

भोपाल। प्रदेश के कई इलाकों में कड़ाके की ठंड जारी है। जिससे जनजीवन अस्तव्यस्त है। बीते 24 घंटों में दर्जनभर शहरों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से कम दर्ज किया गया। सबसे कम 6.8 डिग्री तापमान पचमढ़ी में रहा। जबकि नौगांव का न्यूनतम तापमान 7 डिग्री और रीवा-उमरिया में 7.4 डिग्री दर्ज किया गया। भोपाल, सीहोर, रायसेन, सागर जिलों में सूरज की लुका छिपी जारी रही। जिससे लोगों को सर्दी का सितम सहना पड़ा। वहीं मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में प्रदेश के दर्जनभर शहरों में गरज चमक के साथ बारिश होने की चेतावनी जारी की है। बुधवार शाम और गुरूवार को ग्वालियर, दतिया, नीचम, मंदसौर, आगर, राजगढ़,  भिंड, मुरैना, श्योपुर, गुना और शिवपुरी में बारिश के आसार हैं। इस बारिश के बाद एक बार फिर तापमान में गिरावट देखने को मिल सकती है।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इनदिनों प्रदेश में दो वेदर सिस्टम एक्टिव हैं, जिसकी वजह से मौसम में कई परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। देश के उत्तरी हिस्से में पश्चिमी विक्षोभ की वजह से मध्‍यप्रदेश के मौसम का मिजाज बिगड़ना शुरू होगा। प्रदेश के ग्वालियर चंबल समेत कई जिलों में बादल छाने लगेंगे। इस सिस्टम की वजह से पूरे प्रदेश में 6 और 7 जनवरी को बारिश की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं।  

और पढें: अलीराजरपुर जेल में आदिवासी महिला से गैंगरेप, दो जेल प्रहरियों पर लगा आरोप 

मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटों में राजधानी भोपाल, विदिशा, रायसेन, उज्जैन, आगर मालवा, शाजापुर, देवास, राजगढ़, सीहोर, दतिया,  गुना, अशोक नगर, शिवपुरी, श्योपुर कलां, सागर, छतरपुर, निवाड़ी, टीकमगढ़ और पन्ना में आंधी के साथ ओले और गरज-चमक से साथ ओले गिरने की आशंका जताई है। प्रदेश में आगामी रविवार और सोमवार तक मौसम का मिजाज बिगड़ा रहने की संभावना है। 

दरअसल इनदिनों जम्मू-कश्मीर,शिमला में बर्फबारी का दौर जारी है, जिसकी वजह से मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है, उत्तर भारत से आ रही बर्फीली हवाओं की वजह से सर्दी बढ़ी है।