सीहोर में कोरोना वैक्सीनेशन के बाद युवक की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के लिए करना होगा 8 दिन इंतजार

कोरोना वैक्सीन लगवाने के 48 घंटे बाद युवक ने तोड़ा दम, टीकाकरण के चंद घंटों बाद बिगड़ी थी तबीयत, परिजनों ने डाक्टरों पर लगाया लापरवाही का आरोप, इंजीनियर बनना चाहता था युवक

Updated: Nov 10, 2021, 05:27 PM IST

सीहोर में कोरोना वैक्सीनेशन के बाद युवक की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के लिए करना होगा 8 दिन इंतजार
Photo Courtesy: financial express

सीहोर। कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगाने के बाद एक युवक की मौत हो गई। मामला सीहोर के भंवरा गांव का है। जहां 6 नवंबर को 19 वर्षीय शुभम परमार को वैक्सीन की पहली खुराक दी गई थी। टीका लगवाने के कुछ घंटों बाद उसकी तबीयत खराब हो गई। परिजनों की मानें तो 7 नवंबर को उनके बेटे को उल्टियां होने लगी थीं। जिसे इलाज के लिए आष्टा के सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया था। लगातार बिगड़ती हालत की वजह से उसे सीहोर जिला अस्पताल रैफर किया गया।

इलाज के दौरान सोमवार 8 नवंबर की सुबह उसकी मौत हो गई। 19 साल की शुभम इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहा था। मृतक दो भाइयों में बड़ा था। उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भोपाल स्तिथ एम्स अस्पताल भेजा गया है। कहा जा रहा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आठ दिनों में थाने को सौंप दी जाएगी। फिलहाल मौत की वजह का खुलासा नहीं किया गया है।

वहीं टीकाकरण केंद्र के डाक्टरों ने सफाई दी है कि टीका लगवाने के बाद शुभम को वहां पर प्रोटोकाल के पालन के लिए रोका गया था। तब उसकी तबीयत ठीक थी। अब एम्स की रिपोर्ट से ही मौत की वजह पता लग सकेगी।भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का काम युद्ध स्तर पर जारी है। अब तक 109 करोड़ से ज्यादा टीके लगाए जा चुके हैं। जिनमें से 74, 21,62,980 से ज्यादा लोगों को पहली और 34,86,53,516 से ज्यादा लोगों को दूसरा डोज लगाया गया है। लोगों को जल्द से जल्द कोरोना से सुरक्षा देने के लिहाज से घर-घर दस्तक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। ताकि जल्द से जल्द पूरा देश कोरोना वैक्सीनेटेड हो जाए।