क्या मंथन के बाद निकलेगा हल, अजय माकन और वेणुगोपाल ने अशोक गहलोत से की लंबी बातचीत

अजय माकन और वेणुगोपाल ने राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत से शनिवार को करीब ढाई घंटे तक लंबी बातचीत की, इसके बाद आज दोनों नेताओं और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के बीच भी बातचीत हुई, जिसके बाद से अब एक बार फिर गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार की सुगबुगाहट तेज़ हो गई है

Publish: Jul 25, 2021, 01:11 PM IST

क्या मंथन के बाद निकलेगा हल, अजय माकन और वेणुगोपाल ने अशोक गहलोत से की लंबी बातचीत

नई दिल्ली/जयपुर। पंजाब कांग्रेस में सबकुछ ठीक होने के बाद अब देश की राजनीति राजस्थान की धुरी पर आकर टिक गई है। शनिवार को कांग्रेस नेता अजय माकन और वेणुगोपाल की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से हुई मुलाकात के बाद एक बार फिर गहलोत मंत्रिमंडल में विस्तार की सुगबुगाहट तेज़ हो गई है। उधर दिल्ली वापसी से पहले राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा से दोनों नेताओं की हुई मुलाकत को लेकर भी सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। 

दरअसल शनिवार को अजय माकन और वेणुगोपाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ लंबी बैठक की थी। यह बैठक करीब ढाई घंटे चली थी। इस बैठक के बाद से ही यह अटकलें तेज़ हो गई हैं कि जल्द ही अशोक गहलोत मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है। बैठक को लेकर मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का उल्लेख किया जा रहा है कि कांग्रेस आलाकमान चाहता है कि सीएम जुलाई महीने में ही अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर दें। 

हालांकि मंत्रिमंडल में फेरबदल और विस्तार को लेकर अंतिम फैसला अशोक गहलोत पर ही छोड़ा गया है। राजस्थान कांग्रेस में किसी भी सियासी घटनाक्रम को लेकर सीएम की सहमति को अंतिम फैसला माना जाएगा। मंत्रिमंडल विस्तार कब होगा? कौन सी तारीख को होगा? यह सब अशोक गहलोत को ही तय करना है। 

दूसरी तरफ सीएम के साथ हुई इस बैठक के बाद यह दावा किया जाने लगा कि रविवार को कांग्रेस के विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। लेकिन जल्द ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि 'मीडिया में चल रही कल की विधायक दल की बैठक की खबरें निराधार हैं। AICC महासचिव श्री वेणुगोपाल जी एवं राजस्थान प्रभारी श्री अजय माकन जी का कल प्रातः 10.30 बजे पीसीसी कार्यालय आने पर जयपुर में मौजूद मंत्री, विधायक एवं प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों द्वारा स्वागत किया जाएगा।'