CBSE की 10वीं क्लास की परीक्षा में 99.04% स्टूडेंट्स पास, इस बार भी छात्राओं ने मारी बाजी

2021 में 10वीं क्लास के 21 लाख 13 हजार 767 बच्चे हुए पास, रीजन के हिसाब से त्रिवेंद्रम, बेगलुरू चेन्नई टाप थ्री में, भोपाल को मिली 9वीं रैंक, कोरोना की वजह से रद्द हुई थी परीक्षा

Updated: Aug 03, 2021, 01:41 PM IST

CBSE की 10वीं  क्लास की परीक्षा में 99.04% स्टूडेंट्स पास,  इस बार भी  छात्राओं ने मारी बाजी
Photo Courtesy: Indian express

दिल्ली। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) के 10वीं की परीक्षा में 99.04 प्रतिशत छात्रों ने सफलता हासिल की है। हर बार की तरह इस बार भी लड़कियों की सफलता का प्रतिशत लकड़ों से ज्यादा रहा है। लड़कियों ने 0.35% ज्यादा मार्क्स पाए हैं। क्षेत्र के हिसाब से देश में त्रिवेंद्रम के बच्चों का रिजल्ट 99.99% रहा है। इसी के साथ त्रिवेंद्रम टॉप पर है। सेकेंड पोजीशन पर बेंगलुरु रीजन 99.96%, चेन्नई रीजन को 99.94% के साथ तीसरी रैंक मिली। जबकि अजमेर रीजन को 99.88% रिजल्ट के साथ पांचवीं रैंक मिली है, जबकि भोपाल को नवीं रैंक मिली है। भोपाल में रिजल्ट 99.47% रहा है।

इस साल 57 हजार 824 छात्रों ने 95% से ज्यादा अंक हासिल किए हैं। 90 से 95% रिजल्ट वालों की संख्या 2 लाख है। इस साल कुल 21 लाख 13 हजार 767 छात्रों ने परीक्षा के लिए पंजियन करवाया था। जिनमें से 20 लाख 97 हजार 128 छात्रों का रिजल्ट घोषित किया गया है। 16 हजार 639 बच्चों का रिजल्ट बाद में जारी होगा।

CBSE ने मार्किंग स्कीम के आधार पर रिजल्ट बनाया है। जिसमें साल भर के प्रदर्शन के आधार पर छात्रों का रिजल्ट तैयार किया गया है। इस रिजल्ट में 20 नंबर इंटरनल मार्किंग के और 80 नंबर साल भर में बच्चे के पर्फार्मेंस के आधार पर हैं। स्कूलों द्वारा साल भर में ली गई परीक्षाओं और उनमें मिले नंबर्स के आधार पर रिजल्ट तैयार किया गया है। इस साल कोरोना संक्रमण की वजह से 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी गई थी।

21 लाख 13 हजार 767 छात्रों को अपने रिजल्ट का लंबे वक्त से इंतजार था। रिजल्ट देखने के लिए स्टूडेंट्स को सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in, cbseresults.nic.in, और cbse.gov.in पर लॉग इन करके देखे जा सकेंगे। वहींअपने रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को दोबारा परीक्षा देने का भी मौका दिया जाएगा। पिछले साल की ही तरह सीबीएई बोर्ड ने मेरिट लिस्ट जारी नहीं करने का फैसला लिया है।  

सबसे पहले 10वीं रिजल्ट से संबंधित लिंक पर क्लिक करन के बाद छात्रों को अपना रोल नंबर और डेट आफ बर्थ डालना होगा। जैसे ही इस जानकारी को भर दिया जाएगा। छात्र अपना रिजल्ट देख सकेंगे। रिजल्ट डाउनलोड भी किया जा सकेगा। इस साल कोरोना महामारी की वजह से एक्जाम रद्द कर दिए गए थे। 10वीं का रिजल्ट मार्किंग फॉर्मूले के आधार पर तैयार किया गया है। इस साल 10वीं की बोर्ड  परीक्षा 04 मई 2021 से 07 जून 2021 तक होने वाली थी, जिसे कोरोना की दूसरी लहर की वजह से रद्द कर दिया गया था।  

वहीं साल 2020 में भी कोरोना की वजह से 10वीं के कुछ पेपर्स नहीं हो पाए थे। 2020 में देशभर के करीब 18.89 लाख छात्रों ने 10 वीं बोर्ड परीक्षा दी थी। इनमें से 88.78% छात्रों ने परीक्षा पास की थी। 30 जून को ही बोर्ड ने 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट जारी किया है। जिसमें लड़कियों ने बाजी मारी थी। 2021 की 12वीं क्लास की परीक्षा में 99.37% लडकों ने सफलता हासिल की, जबकि लड़कियों का प्रतिशत 99.67% रहा है, जबकि 99.13% लड़के परीक्षा में पास हुए हैं।  

2021 की 12वीं क्लास की परीक्षा में 99.37% लडकों ने सफलता हासिल की है। जबकि लड़कियों का प्रतिशत 99.67% है, जबकि 99.13% लड़के परीक्षा में पास हुए हैं। सीबीएई ने 12वीं के रिजल्ट के लिए 13 सदस्यीय समिति का गणन किया था। उनके बनाए नए फार्म्यूले के हिसाब से रिजल्ट तैयार किया गया था। जिसमें 30 फीसदी अंक दसवीं के, 30 फीसदी अंक 11वीं कक्षा के और 40 फीसदी अंक 12वीं कक्षा के साल की परीक्षाओं, टेस्ट, छमाही परीक्षा और प्री-बोर्ड परीक्षाओं के आधार पर दिए गए थे।