देहरादून में फटा बादल, नदी नाले उफान पर, टपकेश्वर में बाढ़ जैसे हालात, SDRF ने संभाला मोर्चा

देहरादून जिले के रायपुर ब्लाक में शनिवार की तड़के बादल भी फट गया, सूचना के बाद एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची, इसके साथ ही देहरादून के टपकेश्वर महादेव मंदिर के पास भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात हो गए।

Updated: Aug 20, 2022, 01:30 PM IST

देहरादून में फटा बादल, नदी नाले उफान पर, टपकेश्वर में बाढ़ जैसे हालात, SDRF ने संभाला मोर्चा

देहरादून। उत्तराखंड में शुक्रवार से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने भारी तबाही मचा दी। देहरादून जिले के रायपुर ब्लाक में शनिवार की तड़के बादल भी फट गया। सरखेत गांव के लोगों ने बताया कि यह घटना तड़के करीब 2.45 बजे की है। सूचना के बाद एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची। 

रायपुर ब्लाक में बादल फटने के बाद मौके पर पहुंची एसडीआरएफ ने बताया कि गांव में फंसे सभी लोगों को बचा लिया गया है, जबकि कुछ लोगों ने एक रिसॉर्ट में शरण ली है। इसके अलावा शुक्रवार से लगातार शुरू हुई मूसलाधार बारिश की वजह से देहरादून के प्रसिद्ध टपकेश्वर महादेव मंदिर के पास बहने वाली तमसा नदी ने विकराल रूप ले लिया।

यह भी पढ़ें: 70 सीट पर सिमट जाएगी BJP, CM शिवराज के 200 पार वाले नारे पर कांग्रेस का पलटवार

टपकेश्वर महादेव मंदिर के पास भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात हो गए। भारी बारिश की वजह से मालदेवता पर बना पुल भी बह गया है। तमसा नदी के उफान पर होने की वजह से माता वैष्णो देवी गुफा योग मंदिर और टपकेश्वर महादेव का संपर्क टूट गया है। तालाब भी क्षतिग्रस्त हो गया है। टपकेश्वर महादेव मंदिर के महंत आचार्य बिपिन जोशी ने बताया कि भगवान की कृपा से कोई जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है। बताया जा रहा है कि कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

उधर भारी बारिश के कारण शनिवार सुबह जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले के कटरा कस्बे में माता वैष्णो देवी मंदिर क्षेत्र के पास अचानक बाढ़ आ गई। भारी बारिश और अचानक आई बाढ़ को देखते हुए माता वैष्णो देवी मंदिर में भक्तों की आवाजाही कुछ देर के लिए रोक दी गई है।

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने कहा, "भारी बारिश के मद्देनजर कटरा से वैष्णो देवी मंदिर जाने वाले तीर्थयात्रियों को ऊपर की ओर जाने को रोक दिया गया है। नीचे आने वाले तीर्थयात्रियों को प्राथमिकता दी जा रही है। पुलिस और सीआरपीएफ को पहले ही तैनात कर दिया गया है। पूरी स्थिति पर नजर रखी जा रही है। अब तक किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।"