कोविड पीड़ितों की मदद के लिए कांग्रेस ने बनाया कंट्रोल रूम, प्रदेश समितियों के साथ समन्वय कर पार्टी पहुंचाएगी ज़रूरतमंदों को मदद

पहले टास्क के तौर पर प्लाज़्मा बैंक बनाने की तैयारी, सामान्य मरीज़ों के लिए टेलीफ़ोनिक प्रेसक्रिप्शन उपलब्ध कराएगी पार्टी, हर ज़िले में डॉक्टर्स की टीम खड़ी करने का लक्ष्य

Updated: Apr 25, 2021, 08:52 PM IST

कोविड पीड़ितों की मदद के लिए कांग्रेस ने बनाया कंट्रोल रूम, प्रदेश समितियों के साथ समन्वय कर पार्टी पहुंचाएगी ज़रूरतमंदों को मदद
Photo Courtesy: Sunday Guardian

नई दिल्ली। कोरोना के इस संकट काल में मरीजों तक हर संभव मदद पहुंचाने के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस समिति ने अपना कंट्रोल रूम तैयार किया है। यह कंट्रोल रूम कांग्रेस की तमाम प्रदेश समितियों से संपर्क स्थापित करेगा। जिसके बाद प्रदेश कांग्रेस समितियों के साथ समन्वय स्थापित कर हर ज़रूरतमंद व्यक्ति तक मदद पहुंचाई जाएगी। एआईसीसी द्वारा गठित यह कंट्रोल रूम रोज़ाना तमाम प्रदेश समितियों से संपर्क करेगा और प्रतिदिन की एक रिपोर्ट भी तैयार करेगा। कांग्रेस ने इस कंट्रोल रूम की ज़िम्मेदारी चार लोगों को सौंपी है। जिसमें कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा, अजय कुमार, मनीष चतरथ और राज्यसभा टीवी के पूर्व संपादक गुरदीप सिंह सप्पल हैं। 

कांग्रेस पार्टी के इस कंट्रोल रूम का प्रमुख उद्देश्य संकट के इस दौर में अस्पताल में बेड, इंजेक्शन सहित तमाम ज़रूरी सुविधाओं से लाचार लोगों तक मदद पहुंचाना है। यह समिति डॉक्टर्स की एक टीम के जरिए लोगों को जागरूक करेगी, समय पर इलाज और दवाई मुहैय्या कराने का प्रबंध करेगी। इसके अलावा कोविड से स्वस्थ हुए लोगों के प्लाज्मा बैंक बनाने का कार्य भी करेगी। प्लाज़्मा बैंक की जरूरत उन क्रिटिकल मरीज़ों को होती है, जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है, या जो कोरोना के अत्यधिक चपेट में आ चुके होते हैं। हाल के दिनों में प्लाज्मा थेरेपी से कोविड मरीज़ों के इलाज में काफी मदद मिली है। इसलिए इस समिति की प्राथमिकताओं में से यह भी एक बताया जा रहा है।

पार्टी इसके अलावा कांग्रेस शासित राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों से भी समय समय पर परामर्श लेगी। इसी संदर्भ में रविवार को कांग्रेस शासित चार राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के एक वर्चुअल प्रेस कांफ्रेस भी आयोजित की गई। जिसमें कोरोना काल में संकट से निपटने के लिए स्वास्थ्य मंत्रियों ने जो कदम उठाए उसका लेखा जोखा और आनेवाले दिनों की तैयारियों के बारे में विस्तृत चर्चा हुई। स्वास्थ्य मंत्रियों ने केंद्र से पर्याप्त सहयोग ना मिलने का मुद्दा भी इस दौरान उठाया। इस प्रेस वार्ता में छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह शामिल हुए। 

यह भी पढ़ें : राहुल गांधी की कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील, जनता के दुख को दूर करें कांग्रेस के कार्यकर्ता

राहुल गांधी ने भी कांग्रेस के तमाम कार्यकर्ताओं से अपने राजनीतिक काम छोड़कर लोगों के दुख को दूर करने में मदद की अपील की है। राहुल गांधी ने कहा है कि यह कांग्रेस पार्टी का धर्म रहा है, इसलिए कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं को संकट की इस घड़ी में लोगों की मदद से पीछे नहीं हटना चाहिए।