पहले अगस्ता भ्रष्ट था, अब भाजपा लॉन्ड्री में धुलकर साफ हो गया, अगस्ता वेस्टलैंड मुद्दे पर राहुल गांधी का अटैक

अगस्ता वेस्टलैंड का मुद्दा एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है, इस बार केंद्र सरकार कंपनी पर लगे प्रतिबंध को हटाकर निशाने पर है, केंद्र सरकार ने पहले इस कंपनी को फर्जी और भ्रष्ट बताया था

Updated: Nov 08, 2021, 07:23 PM IST

पहले अगस्ता भ्रष्ट था, अब भाजपा लॉन्ड्री में धुलकर साफ हो गया, अगस्ता वेस्टलैंड मुद्दे पर राहुल गांधी का अटैक

नई दिल्ली। अगस्ता वेस्टलैंड का मामला एक बार फिर भारतीय राजनीति को गर्मा दिया है। केंद्र सरकार द्वारा अगस्त वेस्टलैंड की स्वामित्व वाली कंपनी फिनमेकानिका पर लगे सभी प्रतिबंध हटा दिए गए हैं। केंद्र ने इटली की इस कंपनी से प्रतिबंध ऐसे समय में हटाया है जब बीते हफ्ते ही प्रधानमंत्री मोदी इटली दौरे से लौटे हैं। सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस आक्रामक हो गई है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोला है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि पहले अगस्ता भ्रष्ट था, लेकिन अब बीजेपी की लॉन्ड्री में धुलकर साफ हो गया। राहुल गांधी ने इसे कुतर्क बताया है। 

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया है कि, 'भ्रष्टाचार की क्रोनोलॉजी- PM ने कंपनी को 'भ्रष्ट' कहा गृहमंत्री ने कंपनी को "फर्जी" बताया। पूर्व रक्षा मंत्री ने संसद में कंपनी पर "रिश्वत और भ्रष्टाचारी" कहा। फिर मोदी सरकार ने 22/7/2014 को ऑगस्टा/फिनमेकेनिका का नाम ब्लैक लिस्ट से हटाया। अब कंपनी से खरीद प्रतिबंध भी हटाया।' 

दरअसल, 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान कुछ डॉक्युमेंट्स सामने आए थे। इसके आधार पर बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस के ऊपर गंभीर आरोप लगाए थे। सरकार ने इस कंपनी के खिलाफ जांच भी बिठा दी थी। लेकिन अब केंद्र ने सभी प्रतिबंधों को अचानक से हटा दिया है। खास बात यह है कि ये फैसला ऐसे समय में लिया गया है जब पीएम मोदी पिछले हफ्ते ही इटली के दौरे से आए हैं और यह कंपनी भी इटालियन है।

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने दावा किया है कि इटली में पीएम मोदी की एक बैठक के दौरान अगस्ता वेस्टलैंड कम्पनी को लेकर चर्चा हुई। इस बैठक में एनएसए अजित डोभाल और विदेश मंत्री एस जयशंकर भी शामिल हुए थे। वल्लभ ने पूछा है कि प्रधानमंत्री की क्या डील हुई जो आज प्रतिबंध हटा दिए गए। क्या कंपनी के खिलाफ जो जांच चल रही है उसे भी बंद कर दिया जाएगा।