महाराष्ट्र: धनंजय मुंडे की कुर्सी पर लटकी तलवार, शरद पवार ने आरोपों को बताया गंभीर

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री व एनसीपी नेता धनंजय मुंडे ने रेप का आरोप लगने के बाद पार्टी फोरम में दी सफाई, कहा मैने कोई बलात्कार नहीं किया, सब आपसी सहमति से हुआ, दो बच्चे भी हुए

Updated: Jan 14, 2021, 07:45 PM IST

महाराष्ट्र: धनंजय मुंडे की कुर्सी पर लटकी तलवार, शरद पवार ने आरोपों को बताया गंभीर
Photo Courtesy : OPIndia

मुंबई। महाराष्ट्र के उद्धव सरकार में कैबिनेट मंत्री व एनसीपी नेता धनंजय मुंडे की कुर्सी पर अब तलवार लटकती नजर आ रही है। खुद एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने मुंडे पर लगे आरोपों को गंभीर बताया है। पवार ने यह भी स्पष्ट किया है कि पार्टी उनके बारे में जल्द ही कार्रवाई करेगी। धनंजय मुंडे ने कहा है कि मैने पार्टी फोरम में अपनी बातें रख दी हैं। अब हाईकमान जो फैसला करेगी उसे मैं बेहिचक स्वीकार करूंगा।

धनंजय मुंडे ने आज अपने ऊपर लगे आरोपों के सिलसिले में एनसीपी प्रमुख शरद प्रमुख से मुलाकात भी की और अपने खिलाफ लगे आरोपों को लेकर सफाई पेश दी। मुलाकात के बाद शरद पवार ने कहा, 'धनंजय मुंडे पर जो आरोप लगे हैं, वे गंभीर हैं और पार्टी उनके बारे में जल्द फैसला लेगी। उन्होंने मुझसे मुलाकात की थी और अपने ऊपर लगे आरोप के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि वे एक महिला के साथ करीबी रिलेशनशिप में थे और उसने ही बाद में आरोप लगाए। उन्हें इस आरोप का अंदाजा पहले से ही था, जिसकी वजह से इस मामले में हाईकोर्ट से संपर्क किया था।'

यह भी पढ़ें: धर्मांतरण के शक में महिला के गर्भ पर लात मारकर अजन्मे बच्चे को मारा

मुलाकात के बाद मुंडे ने खुद भी मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा, 'मुझ पर लगे आरोप के सिलसिले में मैंने शरद पवार और पार्टी के सामने अपनी सफाई पेश की है। मैंने उन्हें सबकुछ बता दिया है। जो भी पार्टी और शरद पवार फैसला करेंगे, मैं वैसा ही करूंगा।' इस मामले में एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा, 'चूंकि महिला ने मामला दर्ज करवा दिया है, इसलिए उनकी पार्टी जांच होने तक इंतजार करेगी।हम पहले आधिकारिक रिपोर्ट का इंतजार करेंगे और फिर फैसला करेंगे कि आगे क्या करना है।'

दूसरी तरफ, महाराष्ट्र की विपक्षी पार्टी बीजेपी ने इस मामले की चुनाव आयोग में शिकायत की है। चूंकि रेप के आरोप पर सफाई देते हुए मुंडे ने खुद कहा था कि मैंने कोई बलात्कार नहीं किया है, बल्कि दोनों की सहमति से विवाहेतर संबंध था और इससे दो बच्चे भी हुए। अब बीजेपी का कहना है कि मुंडे ने खुद स्वीकार किया है कि उनकी दो बीवियां हैं, जबकि उन्होंने चुनाव आयोग को दूसरी बीवी और बच्चों की जानकारी नहीं दी। ऐसे में चुनाव आयोग को मामले में संज्ञान लेकर मुंडे के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: बीजेपी के संपर्क में टीएमसी के 41 विधायक, कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा दावा

गौरतलब है कि धनंजय मुंडे पर एक सिंगर के यौन उत्पीड़न एवं बलात्कार के आरोप में मुंबई के ओशिवारा थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। मामले पर मुंडे ने एक बयान जारी करके कहा कि शिकायत करने वाली महिला की बड़ी बहन के साथ वर्ष 2003 से आपसी सहमति से संबंध थे। इस बारे में मेरे परिवार को भी पता है और इस संबंध से पैदा हुए दो बच्चों को मैंने अपना नाम दिया है और उनकी जिम्मेदारी भी उठा रहा हूं। लेकिन अब मुझे ब्लैकमेल किया जा रहा है।' मुंडे बीजेपी के स्वर्गीय नेता गोपीनाथ मुंडे के भतीजे हैं।