बिहार पंचायत चुनाव: चुनाव से 18 दिन पहले हो गई उम्मीदवार की मृत्यु, परिणाम आने पर जीत गया मृतक

बिहार के जमुई जिले का मामला, 6 नवम्बर को हो गई थी पंच पद के उम्मीदवार की मृत्यु, चुनावों में लोगों ने किया मृतक के पक्ष में मतदान, परिणाम आने पर प्रशासन और हैरान

Publish: Nov 28, 2021, 03:13 PM IST

बिहार पंचायत चुनाव: चुनाव से 18 दिन पहले हो गई उम्मीदवार की मृत्यु, परिणाम आने पर जीत गया मृतक
Photo Courtesy: Aaj Tak

पटना। बिहार पंचायत चुनाव में अजीबोगरीब मामला सामने आया है। पंचायत चुनाव के परिणामों में एक ऐसे उम्मीदवार को जीत मिली है, जिसकी मृत्यु परिणाम आने से अठारह दिन पहले ही हो गई थी। चुनाव परिणाम आने के बाद स्थानीय प्रशासन असमंजस में पड़ गया। 

यह मामला बिहार के जमुई जिले का है। 24 नवंबर को बिहार पंचायत चुनाव के आठवें चरण के मतदान हुए थे। जमुई जिले के खैरा प्रखंड के हड़खार पंचायत में वार्ड संख्या दो से सोहन मुर्मू ने पंच पद पर नामांकन दाखिल किया था। चुनाव से ढाई हफ्ते पहले ही 6 नवंबर को सोहन मुर्मू की मौत हो गई। लेकिन 26 नवंबर को आए हड़खार पंचायत के परिणामों ने सबको चौंका दिया। 

परिणाम में मृतक सोहन मुर्मू के पक्ष में सबसे अधिक वोट पड़े थे। सोहन मुर्मू के पक्ष में 148 वोट जबकि दूसरे नंबर पर रहने वाले मूरा हेंब्रम को 126 वोट मिले। प्रशासन को एक मृतक व्यक्ति के चुनाव जीतने की भनक तब लगी, जब विजयी उम्मीदवार अपना प्रमाण पत्र लेने नहीं पहुंचा। 

प्रशासन ने जब विजयी उम्मीदवार की खोजबीन शुरू की, तब जा कर हकीकत सामने आई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोहन मुर्मू लम्बे समय से बीमारी से ग्रसित था। सोहन मुर्मू की मृत्यु होने के कारण ग्रामीणों ने सहुनुभूति वश सोहन के समर्थन में अपने वोट डाल दिए। यही वजह रही है कि मृत्यु के बाद भी सोहन को जीत हासिल हो गई। प्रशासन ने इस मामले को चुनाव आयोग को भेजा है। जिसके बाद आयोग इस नतीजे पर फैसला करेगा।