यात्रा विश्राम के दौरान क्रिकेट खेलते दिखे दिग्विजय सिंह, कॉलेज के दिनों में रह चुके हैं विकेटकीपर बल्लेबाज़

राजनीति के माहिर खिलाड़ी माने जाने वाले दिग्विजय सिंह भारत यात्रियों संग क्रिकेट खेलते देखे गए, भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक दिन का था विश्राम

Updated: Nov 04, 2022, 01:12 PM IST

यात्रा विश्राम के दौरान क्रिकेट खेलते दिखे दिग्विजय सिंह, कॉलेज के दिनों में रह चुके हैं विकेटकीपर बल्लेबाज़

हैदराबाद। भारत जोड़ो यात्रा का आज विश्राम है। शनिवार को तेलंगाना के मेडक से यात्रा पुनः शुरू होगी। विश्राम के दौरान कैंप साइट पर भारत यात्री सुबह-सुबह क्रिकेट खेलते दिखे। इस दौरान सबसे दिलचस्प दृश्य तब देखने को मिला जब युवाओं का उत्साहवर्धन करने के लिए स्वयं भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह क्रिकेट मैदान में उतर गए। 

राजनीति के माहिर खिलाड़ी माने जाने वाले दिग्विजय सिंह ने यहां तेज गेंदबाजी की। गेंदबाजी करते दिग्विजय सिंह का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। बता दें कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह खेल... खासकर क्रिकेट में काफी रुचि रखते हैं। समय-समय पर क्रिकेट के प्रति उनका लगाव देखने को मिलता है।

करीब एक दशक पहले बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में दिग्विजय सिंह ने बताया था कि वे यूनिवर्सिटी स्तर पर क्रिकेट हॉकी, स्क्वैश और टेनिस खेलते थे। स्क्वैश उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर भी खेला है और तब उन्हें राष्ट्रीय रैंकिंग भी हासिल थी। क्रिकेट में वह विकेटकीपर बल्लेबाज थे।

बकौल सिंह, "मुझे सबसे ज़्यादा मज़ा क्रिकेट खेलने में आता था और ये मुझे आज भी पसंद है। स्क्वैश भी मुझे पसंद था, लेकिन बाद में मैं इसे जारी नहीं रख सका। मैं स्कूल में फ़ुटबॉल खेलता था, लेकिन यूनिवर्सिटी में नहीं खेल सका। अब मैं फ़ुटबॉल देखता हूं और क्रिकेट देखता हूं।"

यह भी पढ़ें: ब्लैक लिस्टेड कंपनी ही करेगी फिर से कारम डैम का निर्माण, कांग्रेस बोली- भ्रष्टाचार का ओलंपिक जीत रहे हैं शिवराज

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी उनके पसंदीदा खिलाड़ियों में से एक हैं। सिंह बताते हैं कि कई बार लोगों ने उन्हें बीसीसीआई का अध्यक्ष बनने के लिए भी कहा। हालांकि, क्रिकेट संघ में उन्होंने रुचि नहीं दिखाई। खेल भावना उन्हें विरासत में मिली है। सिंह के पिता बलभद्र सिंह भी अपने ज़माने के बहुत अच्छे खिलाड़ी थे। पढ़ाई के दौरान बलभद्र सिंह मेयो कॉलेज में क्रिकेट, हॉकी, फ़ुटबॉल तीनों टीमों के कप्तान थे।