पंजाब के कई शहरों में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.1 मापी गई तीव्रता

राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक भूकंप की गहराई जमीन से 120 किमी नीचे थी। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में पिछले एक हफ्ते में दो बार भूकंप आया है।

Updated: Nov 14, 2022, 09:27 AM IST

पंजाब के कई शहरों में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 4.1 मापी गई तीव्रता

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में सोमवार सुबह भूकंप के मामूली झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 4.1 मापी गई। भूकंप सोमवार सुबह करीब 3.42 बजे आया। राज्य के कई हिस्सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए।

राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक भूकंप की गहराई जमीन से 120 किमी नीचे थी। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में पिछले एक हफ्ते में दो बार भूकंप आया है। 12 नवंबर को दिल्ली-एनसीआर और उत्तराखंड में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। दिल्ली-एनसीआर और उत्तराखंड में भूकंप के झटकों की तीव्रता 5.4 मापी गई है। शनिवार रात 7 बजकर 57 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए थे और इसका सेंटर नेपाल में बताया गया। भूकंप का केंद्र नेपाल रहा था।

यह भी पढ़ें: दिल्ली-एनसीआर में फिर भूकंप के झटके, एक हफ्ते में दूसरी बार कांपी धरती

दिल्‍ली-एनसीआर समेत पूरे उत्‍तर भारत में 8 नवंबर की देर रात 1.57 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए थे। इस भूकंप की तीव्रता रिक्‍टर स्‍केल पर 6.3 मापी गई थी और भूकंप का केंद्र नेपाल में था। वहीं इसके बाद नेपाल में डेढ़ घंटे में दो झटके महसूस किए गए थे। बता दें कि भूकंप के कारण नेपाल के डोटी जिले में एक घर गिर जाने से 6 लोगों की मौत हो गई थी।

भारत के अलग-अलग इलाकों में गत 1 सप्ताह के दौरान भूकंप के 4 से 5 झटके आ चुके हैं। भूगर्भ विज्ञानियों का कहना है कि हिमालयी क्षेत्र में टेक्टॉनिक प्लेटों के अस्थिर होने के कारण अधिक तीव्रता वाले भूकंपों की स्थितियां उत्पन्न हुई हैं। टेक्टॉनिक प्लेट्स पृथ्वी के गर्भ में मौजूद लावा पर तैरता है। एक प्लेट जब दूसरे के संपर्क में आती हैं तो भूकंप के झटके लगते हैं। भारतीय प्लेट पर यूरेशियन प्लेट के लगातार दबाव के कारण इसके नीचे जमा होने वाली ऊर्जा समय-समय पर भूकंप के रूप में बाहर निकलती रहती है।