हिंदुत्व की जिहादी इस्लाम से तुलना गलत, गुलाम नबी आजाद ने खोला सलमान खुर्शीद के खिलाफ मोर्चा

पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की नई किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन आवर टाइम्स' पर विवाद, बीजेपी के बाद अब कांग्रेस G23 के गुलाम नबी आजाद भी करने लगे विरोध

Updated: Nov 12, 2021, 10:23 AM IST

हिंदुत्व की जिहादी इस्लाम से तुलना गलत, गुलाम नबी आजाद ने खोला सलमान खुर्शीद के खिलाफ मोर्चा
Photo Courtesy: PTI

नई दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की नई किताब पर विवाद गहराता जा रहा है। बीजेपी व दक्षिणपंथी संगठनों के बाद अब खुद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने मोर्चा खोल दिया है। G23 समूह के माध्यम से कांग्रेस के लिए लगातार मुश्किलें खड़ी करने वाले आजाद ने इस किताब में लिखो बातों को तथ्यात्मक रूप से गलत करार दिया है।

गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि, 'हम हिंदुत्व के साथ एक राजनीतिक विचारधारा के रूप में भले सहमत नहीं हो सकते हैं। लेकिन ISIS और जिहादी इस्लाम के साथ इसकी तुलना करना तथ्यात्मक रूप से गलत और अतिशयोक्ति है।'

यह भी पढ़ें: 1947 में भीख मिली थी असली आज़ादी 2014 में मिली है, कंगना के बेतुके बयान पर लोगों ने किया ट्रोल

दरअसल, सलमान खुर्शीद ने अपने हालिया प्रकाशित किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन आवर टाइम्स' के पेज नंबर 113 में 'सैफरन स्काई' यानी भगवा आसमान नाम का चैप्टर दिया है। पूर्व कानून मंत्री रहे खुर्शीद ने इसमें एक जगह लिखा है कि, 'सनातन और शास्‍त्रीय हिंदू धर्म को संतों और मनीषियों के लिए जाना जाता है, उसे आज का हिंदुत्व किनारे कर रहा है और उसके तमाम राजनैतिक स्वरूप ISIS और बोको हरम जैसे इस्लामी संगठनों जैसे हैं।'

दक्षिणपंथी संगठन पूरे किताब से सिर्फ एक इस हिस्से को निकालकर खुर्शीद के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। बीजेपी ने इसे धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला बताया है, साथ ही कांग्रेस हाईकमान से खुर्शीद को बर्खास्त करने की मांग की है। सलमान खुर्शीद ने इसपर स्पष्टीकरण देते हुए कहा है कि हिन्दू धर्म बहुत उच्च स्तर का धर्म है। इसके लिए गांधी जी ने जो प्रेरणा दी उससे से बढ़कर कोई प्रेरणा नहीं हो सकती है। कोई हिन्दू धर्म का अपमान करे तो मैं भी बोलूंगा। मैंने सिर्फ ये कहा कि हिंदुत्व की राजनीति करने वाले गलत हैं और ISIS गलत है।'

यह भी पढ़ें: पद्मश्री देने से पहले हो दिमागी हालत की जांच, कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने की कंगना से सम्मान वापस लेने की मांग

माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश चुनाव के पहले किताब के हिस्से को एंटी हिंदू की तरह पेश कर बीजेपी हिंदू वोटों को पोलराइज करने का प्रयास कर रही है। इसी बीच अब कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के विरोध ने बीजेपी को और बल दे दिया है। बता दें कि गुलाम नबी आजाद बीते कुछ समय से लगातार कांग्रेस हाईकमान के लिए मुश्किलें खड़ी कर रहे हैं। वहीं सलमान खुर्शीद हाईकमान के भरोसेमंद नेता के तौर पर जाने जाते हैं।