महाराष्ट्र: ठाणे के निजी अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से लगी आग, 4 मरीजों की मौत

ठाणे के निजी प्राइम क्रिटिकेअर हॉस्पिटल में भीषण लगी आग मरीजों को शिफ्ट करते वक्त 4 मरीजों ने तोड़ा दम, 20 मरीज सुरक्षित निकाले गए

Updated: Apr 28, 2021, 10:43 AM IST

महाराष्ट्र: ठाणे के निजी अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से लगी आग, 4 मरीजों की मौत
Photo courtesy: Bhaskar

ठाणे। शहर के मुंब्रा इलाके के प्राइवेट अस्पताल में बुधवार तड़के आग लग गई। प्राइम क्रिटिकेयर अस्पताल में शॉर्ट सर्किट से लगी थी। इस दर्दनाक हादसे में चार मरीजों की मौत हो गई। अस्पताल की पहली मंजिल में आग लगने के बाद वहां एडमिट मरीजों को के बाद मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा था। तभी चार मरीजों की मौत हो गई। नगर निगम और प्रशासन की टीम अस्पताल में मौजूद है। फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश में जुटी हैं। 

ठाणे महानगर पालिका ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया गया है।

ठाणे महानगर पालिका से मिली जानकारी के अनुसार अस्पताल में आग बुधवार तड़के करीब 3:40 बजे लगी। आग लगने की वजह से अस्पताल में अफरा तफरी मच गई। अस्पताल प्रबंधन की सूचना पर फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग बुझाने का काम शुरु किया। इस बीच अस्पताल से मरीजों को दूसरे अस्पताल शिफ्टिंग का काम शुरू किया गया। जिसमें चार मरीजों की मौत हो गई।

यह पहला मौका नहीं है जब महाराष्ट्र के किसी अस्पताल में आग लगने से किसी की मौत हुई हो। इससे पहले मुंबई के नजदीक पालघर जिले के विरार के एक हॉस्पिटल में आग लगने से 15 कोरोना मरीजों की मौत हो गई थी। अस्पताल के पास आग बुझाने का सामान, और जरूरी अनुमतियों के कागजात तक नहीं थे। वहीं नासिक के एक अस्पताल में आक्सीजन गैस लीकेज की वजह से 24 मरीजों की मौत हो गई थी।

देश में कोरोना का कहर जारी है। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में कोरोना के 66,358 नए मरीज मिले हैं, 895 मरीजों की मौत हुई, वहीं 67,752 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। राज्य में कोरोना एक्टिव मामलों की संख्या 44,10,085 हो गई है।