सात सौ पुलिसकर्मी लगाकर 24 घंटे में पकड़ा रेप आरोपी, जयपुर पुलिस ने कहा यह आसान काम नहीं था

रेपिस्ट को धर दबोचने के लिए 20 थानों के करीब 700 पुलिसकर्मियों को लगाया गया, गांव में एसपी ने किया कैम्प, 24 घंटे के भीतर आरोपी को किया गया गिरफ्तार

Updated: Aug 14, 2021, 03:20 PM IST

सात सौ पुलिसकर्मी लगाकर 24 घंटे में पकड़ा रेप आरोपी, जयपुर पुलिस ने कहा यह आसान काम नहीं था
Photo Courtesy: Bhaskar

जयपुर। चार साल की मासूम के साथ रेप और हत्या के मामले में जयपुर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने 24 घंटे के भीतर इस जघन्य कांड के दोषी को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि, पुलिस ने कहा है की आरोपी तक पहुंच पाना इतना आसान काम नहीं था। आरोपी की गिरफ्तारी में करीब 20 थानों के 700 पुलिसकर्मियों को लगाया गया था।

जयपुर ग्रामीण इलाके के एसपी शंकर दत्त शर्मा ने आरोपी को पकड़ने के लिए खुद गांव में कैम्प किया था। शर्मा के मुताबिक कि यह आसान काम नहीं था। उन्होंने बताया कि आरोपी 25 वर्षीय सुरेश कुमार के पास मोबाइल फोन भी नहीं था। इस वजह से उसे तत्काल पकड़ना थोड़ा मुश्किल था। शर्मा ने कहा कि जब सैंकड़ों लोग प्रदर्शन कर रहे थे तब हम दबाव में थे। हालांकि, उन्होंने एक व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से स्थानीय निवासियों के साथ तालमेल बिठाया और आरोपी को धर दबोचने में कामयाब रहे।

यह भी पढ़ें: पिटते पिता की जान बख्शने की भीख मांगती रही बच्ची, भीड़ लगवाती रही जय श्री राम के नारे

शर्मा ने बताया कि आरोपी सुरेश कुमार बलाई (25) देवली, नरैना जयपुर का रहने वाला है। वह शराब और गांजा का नशा भी करता है। बुधवार को भी वह नशे में था। गांव में ही रहने वाली चार की मासूम बच्ची बुधवार शाम करीब 5 बजे घर के बाहर खेल रही थी। इस दौरान बच्ची सुरेश की बाइक के आगे आ गई। सुरेश यहां उसे बाइक पर घुमाने का लालच देकर पीछे बैठा लिया। बच्ची उसकी नियत से अंजान थी।

एएसपी धर्मेंद्र यादव ने बताया कि आरोपी उस बच्ची को गांव से 5 किलोमीटर सुनसान जगह पर ले गया। यहां उसने दुष्कर्म किया। खून से लथपथ बच्ची बेहोश हो गई और सामने से एक ट्रैक्टर आते देख सुरेश ने उसे तालाब में फेंक दिया। बच्ची के घर न आने पर परिजनों ने रात को नरैना थाने में अपहरण का केस दर्ज करवाया। अगले दिन गुरुवार सुबह 9 बजे बच्ची का शव तालाब में मिला। पोस्टमार्टम के बाद रेप की पुष्टि हुई।