राजस्थान में सियासी हलचल तेज़, वसुंधरा के अलावा राज्य के सभी बड़े बीजेपी नेता दिल्ली तलब

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक के लिए बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और उपनेता प्रतिपक्ष दिल्ली पहुँचे, वसुंधरा को बैठक में नहीं बुलाए जाने पर अटकलें तेज़

Updated: Jan 08, 2021, 08:38 PM IST

राजस्थान में सियासी हलचल तेज़, वसुंधरा के अलावा राज्य के सभी बड़े बीजेपी नेता दिल्ली तलब
Photo Courtesy: NDTV

जयपुर/नई दिल्ली। राजस्थान बीजेपी के तमाम शीर्ष नेता आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने के लिए दिल्ली पहुंचे हैं। दिलचस्प बात यह है कि इस बैठक में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को नहीं बुलाया गया है। इस मुलाकात की खबर आने के बाद से राजस्थान की सियासत में हलचल एक बार फिर से तेज़ हो गई है।

जेपी नड्डा के साथ राजस्थान के बीजेपी नेताओं की इस बैठक में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ मौजूद रहेंगे। हालांकि राज्य में एक बार फिर से अशोक गहलोत की कांग्रेस सरकार को गिराने की कोशिशें तेज़ किए जाने की अटकलों को सतीश पूनिया ने खारिज किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स में पूनिया के हवाले से बताया जा रहा है कि दिल्ली में यह बैठक राजस्थान में तीन सीटों पर होने वाले उपचुनाव और आगामी नगर निकाय चुनावों के मद्देनजर बुलाई गई है। लेकिन हाल ही में अशोक गहलोत ने यह आरोप लगाया था कि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व उनकी सरकार को गिराने की अब भी साजिश कर रहा है। ऐसे में इस बैठक को लेकर कई अटकलें लगाई जा रही हैं।

 इन सबके बीच बैठक में वसुंधरा राजे की गैर मौजूदगी भी बहुत कुछ कह रही है। दरअसल वसुंधरा की अनुपस्थिति इस बात की गवाह है कि राजस्थान बीजेपी में अब कहीं न कहीं वसुंधरा गुट कमज़ोर पड़ रहा है। हाल ही में वसुंधरा के विरोधी माने जाने वाले घनश्याम तिवाड़ी की बीजेपी में वापसी के बाद इन दावों को और हवा मिली है। पिछले वर्ष राजस्थान में पनपे सियासी संकट के बीच वसुंधरा खेमे का सक्रिय नज़र न आना भी कुछ ऐसे ही संकेत देता है।