मनसुख हीरेन के शव वाली जगह पर मिली एक और डेडबॉडी, एंटीलिया केस की गुत्थी और उलझी

पुलिस को मुंब्रा खाड़ी में उसी जगह एक और शव मिला है, जहां से मनसुख हिरेन की लाश बरामद हुई थी, हालांकि पुलिस ने इसे एक्सिडेंटल डेथ बताया है

Updated: Mar 20, 2021, 03:11 PM IST

मनसुख हीरेन के शव वाली जगह पर मिली एक और डेडबॉडी, एंटीलिया केस की गुत्थी और उलझी
Photo Courtesy : Freepress journal

मुंबई। मुंबई में मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटकों से भरी कार मिलने का मामला लगातार उलझता ही जा रहा है। पुलिस को मुंबई से सटे मुंब्रा की खाड़ी में उसी जगह से एक और शव मिला है, जहां मनसुख हिरेन की लाश बरामद हुई थी। करीब आठ दिन पहले महाराष्ट्र एटीएस ने मनसुख हीरेन मामले में जहां क्राइम सीन रिक्रिएट किया था, वहीं एक और शव मिलने से खलबली मच गई है। हालांकि पुलिस फिलहाल इसे एक्सिडेंटल डेथ मानकर चल रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक के मुताबिक मुंब्रा के रेती बंदर इलाके में जो शव मिला है, उसकी पहचान 48 साल के सलीम अब्दुल के तौर पर हुई है। सलीम रेती बंदर इलाके का ही रहने वाला है और मजदूरी करता है। अब्दुल के परिवार का कहना है कि शनिवार को वे शौच के लिए गए थे और घर नहीं लौटे। माना जा रहा है कि पैर फिसलने से वे पानी में डूब गए होंगे।

पुलिस ने इस मामले में एक्सिडेंटल डेथ रिपोर्ट दर्ज की है और शव को कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है। शव का पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा। मृतक के शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं हैं। शुरुआती जांच के आधार पर पुलिस ने इसका मनसुख हीरेन केस या एंटीलिया विस्फोटक केस से कोई लिंक होने की संभावना से इनकार कर दिया है।

यह भी पढ़ें: शिवसेना का पलटवार, कहा, वाझे ने अर्णब को बंद कर दिया था इसलिए पीछे पड़ी बीजेपी

इस बीच, महाराष्ट्र एटीएस ने मनसुख हीरेन की मौत के मामले की जांच के लिए सचिन वाझे की कस्टडी मांगी है। आतंकवाद विरोधी दस्ते का कहना है कि वह एनआईए की कस्टडी में रह रहे अधिकारी सचिन से कुछ ज़रूरी पूछताछ करना चाहती है। इस बीच, कई मीडिया रिपोर्ट्स में एनआईए सूत्रों के हवाले से दावा किया जा रहा है कि अंबानी के घर के बाहर पार्क की गई स्कॉर्पियो सचिन वाझे ही चलाकर लाए थे। इतना ही नहीं, स्कॉर्पियो के पीछे जो इनोवा थी वह क्राइम इन्वेस्टिगेशन यूनिट की ही थी और उसे कोई पुलिसकर्मी ही चला रहा था, जिसमें बैठकर सचिन वाझे वहां से रवाना हुए थे।