ऑनलाइन गेम की लत ने बनाया हत्यारा, गेम के लिए पैसे नहीं देने पर नाबालिग चचेरे भाई की हत्या

राजस्थान के नागौर में फ्री फायर और पबजी गेम में पैसे नहीं लगाने को लेकर हुआ था विवाद, 16 साल के लड़के ने अपने चचेरे भाई की गला दबाकर हत्या की और शव को दफनाया, मोबाइल और फर्जी आईडी से हुआ खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

Updated: Dec 14, 2021, 11:55 AM IST

ऑनलाइन गेम की लत ने बनाया हत्यारा, गेम के लिए पैसे नहीं देने पर नाबालिग चचेरे भाई की हत्या
Photo Courtesy: youtube

नागौर। राजस्थान के नागौर में एक दिल हदला देने वाली घटना सामने आई है। यहां ऑनलाइन गेम में हुए विवाद में एक लड़के ने अपने चचेरे भाई की हत्या कर दी। इनमें Free Fire ऑनलाइन गेम में पैसे लगाने को लेकर विवाद हुआ था। पैसे नहीं देने से नाराज 16 साल के लड़के ने अपने 12 साल के चचेरे भाई को मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं अपराध छिपाने के लिए उसे दफना दिया। भाई की हत्या के बाद आरोपी ने अपने घरवालों को गुमराह करने का प्लान बनाया। उसने भाई के अगवा होने की कहानी बनाई, और फिर एक फर्जी आईडी बनाकर बच्चे के पिता से 5 लाख की फिरौती मांगी।

बच्चे के नहीं मिलने से परेशान घरवालों ने नागौर के लाडनूं थाने में शिकायत कर दी। जिसमें बताया का  5 दिन से उनका 12 साल का नाबालिग बच्चा लापता है। पुलिस ने मामले की पड़ताल की जिसके बाद बच्चे का शव गांव बरामद हुआ।  पुलिस ने साइबर सेल की मदद से फर्जी आईडी और फोन कॉल की सच्चाई पता की।

और पढ़ें: इंडोनेशिया में 7.7 तीव्रता का आया भूकंप, सुनामी की चेतावनी

साइबर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार फिरौती इंस्टाग्राम आईडी के माध्यम सले मांगी जा रही थी। IP एड्रेस मासूम के साथ गायब हुए मोबाइल का था। पुलिस जांच में पता चला कि लोकेशन उसके गांव की ही मिल रही है। जिसका इंटरनेट दूसरे मोबाइल के हॉटस्पॉट से चलाया जा रहा था। गहराई से जांच में पुलिस की मृतक के नाबालिग चचेरे भाई पर शक हुआ। जब उससे पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने नाबालिग किशोर को गिरफ्तार कर लिया है आगे की कार्रवाई जारी है।