गरीबों को मुफ्त राशन योजना बंदी पर कांग्रेस का आरोप, तेल की घटी क़ीमतों की भरपाई के लिए छीना ग़रीबों का निवाला

30 नवंबर के बाद गरीबों को नहीं मिलेगा मुफ्त राशन, केंद्र सरकार ने बंद की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, अन्न संकट को देखते हुए शुरू की गई थी योजना

Updated: Nov 06, 2021, 03:14 PM IST

गरीबों को मुफ्त राशन योजना बंदी पर कांग्रेस का आरोप, तेल की घटी क़ीमतों की भरपाई के लिए छीना ग़रीबों का निवाला
Photo Courtesy: Economic Times

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के लाभार्थियों के लिए बुरी खबर सामने आई है। केंद्र सरकार ने इस योजना को 30 नवंबर से बंद करने का निर्णय लिया है। यानी अब गरीबों को मुफ्त राशन नहीं मिलेगा। केंद्र के इस फैसले पर कांग्रेस ने निशाना साधा है। कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग के चेयरमैन रोहन गुप्ता ने कहा है कि पेट्रोल के दाम 5 रु काम करने की वसूली देश के ग़रीबों से शुरू।

दरअसल, खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने शुक्रवार को पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि इकॉनमी में सुधार हो रहा है। इसके साथ ही खुले बाजारों में भी खाद्यान्न की मांग बढ़ी है। इसलिए, सरकार के पास प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुफ्त राशन वितरण के विस्तार का कोई प्रस्ताव नहीं है। यानी इसे नवंबर से आगे नहीं बढ़ाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: भारत में ही रहेगा अंबानी परिवार, लंदन शिफ्ट होने के दावों को किया ख़ारिज, घर नहीं रिसॉर्ट का हो रहा निर्माण

बता दें कि इस योजना के तहत गरीब परिवारों को प्रति व्यक्ति 5 किलो के हिसाब से मुफ्त अनाज मिलता है। केंद्र सरकार के मुताबिक इस योजना के तहत 80 करोड़ गरीब लोगों को अनाज दिया जाता है। लेकिन इस महीने के बाद अब अनाज नहीं दिया जाएगा। इस योजना की घोषण मार्च 2020 में कोरोना के कारण उत्पन्न संकट को दूर करने के लिए की गई थी।

अप्रैल 2020 से गरीब राशन कार्ड धारकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत अन्न मुहैया कराने की शुरुआत हुई। बाद में इसे विस्तार दिया गया और इस साल 30 नवंबर तक बढ़ा दिया गया था। लेकिन केंद्र सरकार ने अब इसे आगे बढ़ाने से साफ इनकार कर दिया है। केंद्र ने इसके विस्तार पर रोक ऐसे समय में लगाया है जब 2 दिन पहले ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती की गई है। ऐसे में अब कांग्रेस आरोप लगा रही है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम करने के बाद अब सरकार इसकी भरपाई गरीबों से कर रही है।