PM की सुरक्षा में कथित चूक मामले में चन्नी सरकार ने गठित की कमेटी, तीन दिन में सौंपेगी रिपोर्ट

पंजाब सरकार ने एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया है, इसमें रिटायर्ड जज मेहताब गिल सहित तीन सदस्य शामिल हैं

Publish: Jan 06, 2022, 12:23 PM IST

PM की सुरक्षा में कथित चूक मामले में चन्नी सरकार ने गठित की कमेटी, तीन दिन में सौंपेगी रिपोर्ट

नई दिल्ली/चंडीगढ़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के दावे के बीच पंजाब की चरणजीत सिंह चन्नी सरकार ने एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन कर दिया है। पंजाब सरकार ने इस मामले की जांच करने की जिम्मेदारी तीन सदस्यों की कमेटी को सौंपा है। इस कमेटी को तीन दिन के भीतर मामले की रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपना है। 

चरणजीत सिंह चन्नी सरकार द्वारा गठित कमेटी में हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज मेहताब गिल सहित कुल तीन लोग शामिल हैं। रिटायर्ड जज के अलावा प्रधान सचिव अनुराग वर्मा भी इस कमेटी का हिस्सा बनाए गए हैं। 

वहीं सुप्रीम कोर्ट में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कथित चूक मामले में याचिका दाखिल की गई है। याचिका में इस मामले की गहन जांच की मांग की गई है। सीजेआई एनवी रमन्ना ने सुनवाई के लिए रजामंदी देते हुए याचिकाकर्ता से याचिका की कॉपी केंद्र और पंजाब सरकार को भेजने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट अब इस मामले की अगली सुनवाई शुक्रवार को करेगा। 

दरअसल बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना पंजाब दौरा रद्द करना पड़ा था। पहले यह जानकारी सामने आई थी कि खराब मौसम के चलते प्रधानमंत्री का दौरा रद्द किया गया है। लेकिन जल्द ही आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के दावे किए जाने लगे। वहीं मीडिया रिपोर्ट्स में बठिंडा एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री द्वारा अधिकारियों से कही गई कथित बात का ज़िक्र किया जाने लगे, जिसमें प्रधानमंत्री ने अधिकारियों से पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को आभार व्यक्त करने के लिए कहा क्योंकि वे सुरक्षित एयरपोर्ट लौट पाए। 

जबकि दूसरी तरफ यह दावा किया गया कि फिरोजपुर में आयोजित रैली में लोग नदारद थे। रैली में अधिकतर कुर्सियां खाली पड़ी हुई थीं। खाली कुर्सियों और पूरे पंजाब। में हो रहे प्रधानमंत्री मोदी के पुरजोर विरोध को देखते हुए प्रधानमंत्री का दौरा रद्द कर दिया गया। और इसके लिए सुरक्षा कारणों का हवाला दिया गया। 

यह भी पढ़ें : पीएम के पंजाब दौरे का हुआ पुरज़ोर विरोध, खाली कुर्सियों के साथ ट्विटर पर ट्रेंड हुआ गोबैक मोदी

खुद पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए सुरक्षा में हुई चूक के दावों को खारिज किया। सीएम चन्नी ने मीडिया को बताया कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक होने वाली कोई बात ही नहीं थी। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री के काफिले को पहले ही सूचित किया जा चुका था कि आगे के मार्ग में ट्रैक्टर ट्राली लगाकर रास्ता रोका गया है, इसलिए आगे जाना मुश्किल है। प्रधानमंत्री पर कोई हमला नहीं हुआ। लेकिन प्रधानमंत्री को वापस लौट कर जाना पड़ा इसका हमें खेद है। सीएम चन्नी ने यह भी बताया कि राज्य सरकार को बताया गया था कि प्रधानमंत्री हवाई मार्ग के ज़रिए फिरोजपुर जाएंगे लेकिन ऐन मौके पर आकर अधिकारियों को यह जानकारी दी गई कि वह सड़क मार्ग के ज़रिए फिरोजपुर जाएंगे।