पटियाला में हिंसक झड़प, हिंदू और सिख आमने-सामने, लहराई गईं तलवारें, पुलिस पर पथराव

खालिस्तानी संगठन ने शुक्रवार को खालिस्तान स्थापना दिवस मनाने का ऐलान किया था, शिवसेना (बालठाकरे) नाम के संगठन ने इसके खिलाफ पटियाला में खालिस्तानी मुर्दाबाद मार्च निकालने का ऐलान किया था

Updated: Apr 29, 2022, 03:15 PM IST

पटियाला में हिंसक झड़प, हिंदू और सिख आमने-सामने, लहराई गईं तलवारें, पुलिस पर पथराव

पटियाला। पंजाब के पटियाला में शुक्रवार को दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प हो गई। यहां शिवसेना की ओर से निकाले गए खालिस्तान मुर्दाबाद मार्च के दौरान कई सिख संगठन और हिंदू कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए। स्थिति तनावपूर्ण होने के बाद दोनों ओर से तलवारें लहराई गई और पथराव भी किया गया।

इस घटना को लेकर पंजाब सीएम भगवंत मान ने कहा कि, 'पटियाला में झड़प की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मैंने डीजीपी से बात की, इलाके में शांति बहाल कर दी गई है। हम स्थिति की बारीकी से नजर रखे हुए हैं और किसी को भी राज्य में अशांति पैदा नहीं करने देंगे। पंजाब की शांति और सद्भाव सबसे जरूरी है।'

यह भी पढ़ें: क्रेडिट लेने की होड़ में भिड़े भाजपाई, कटनी रेलवे स्टेशन पर जमकर हुआ जूतम पैजार, वीडियो वायरल

इस हिंसा में खालिस्तानी एंगल सामने आ रहा है। दरअसल, खालिस्तानी आतंकी और सिख फॉर जस्टिस संगठन के संस्थापक गुरपतवंत सिंह पन्नू की ओर से शुक्रवार को खालिस्तान स्थापना दिवस मनाने का ऐलान किया गया था। गुरपतवंत सिंह पन्नू ने पंजाब के सरकारी दफ्तरों पर खालिस्तानी झंडे फहराने का आह्वान किया था। इतना ही नहीं झंडा फहराने का वीडियो भेजने वालों उसने एक लाख डॉलर इनाम देने की भी घोषणा की थी।

शिवसेना (बालठाकरे) नाम के संगठन ने इसके खिलाफ पटियाला में खालिस्तानी मुर्दाबाद मार्च निकालने का ऐलान किया था। शुक्रवार दोपहर शिवसेना (बाल ठाकरे) के पंजाब कार्यकारी हरिश सिंगला की देखरेख में आर्य समाज चौक से खालिस्तान मुर्दाबाद मार्च शुरू हुआ। शिव सैनिक कार्यकर्ता खालिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए बढ़ रहे थे। इसी दौरान खालिस्तान समर्थक सिख तलवारें लहराते हुए सड़क पर आ गए और स्थिति तनावपूर्ण हो गई।

यह भी पढ़ें: शिवराज सिंह चौहान के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी बीजेपी, हार्डकोर हिंदुत्व के एजेंडे के साथ मैदान में उतरने की तैयारी

पुलिस ने मामले सुलझाने की कोशिश की, लेकिन उग्र भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर ही पथराव करना शुरू कर दिया। इस घटना में एक एसएचओ समेत कुछ और लोग चोटिल हो गए। पुलिस को हालात संभालने के लिए हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। फिलहाल इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है और पुलिस तैनात है। डीएसपी ने कहा कि यहां कानून व्यवस्था की समस्या को देखते हुए पुलिस तैनात कर दी गई है।