UP दौरे से पहले राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- मीडिया अपनी जिम्मेदारी भूल चुकी है

UP दौरे से पहले राहुल गांधी ने दिल्ली में किया प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- आज देश में तानाशाही है, हिंदुस्तान की आवाज को कुचला जा रहा है, अपराधियों को खुली छूट मिली हुई है

Updated: Oct 06, 2021, 11:13 AM IST

UP दौरे से पहले राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बोले- मीडिया अपनी जिम्मेदारी भूल चुकी है

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी किसान नरसंहार और कांग्रेस नेताओं की गिरफ्तारी के बीच आज राहुल गांधी ने लखीमपुर जाने का ऐलान किया है। उत्तर प्रदेश दौरे के पहले राहुल गांधी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। राहुल गांधी ने इस दौरान सरकार से लेकर मीडिया तक कि आलोचना की। राहुल गांधी ने सार्वजनिक रूप से कहा की आज मीडिया अपनी जिम्मेदारी भूल गई है।

राहुल गांधी ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हर कहा, 'उत्तर प्रदेश में अपराधियों को खुली छूट मिली हुई है। आपने बोला कि यह राजनीति हो रही है। विपक्ष का काम दबाव बनाने का होता है, तब कार्रवाई होती है। सरकार नहीं चाहती कि हम दबाव बनाएं। सच बताऊं कि यह काम मीडिया का है, लेकिन आप अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाते। आप अपनी जिम्मेदारी भूल गए हैं। आप जानते हो कैसे मीडिया को कंट्रोल किया जा रहा है।'

प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी सरकार किसानों के ऊपर सुनियोजित तरीके से हमला कर रही है। राहुल ने कहा, 'हिन्दुस्तान की सरकार किसानों पर सुनियोजित तरीके से हमला कर रही है। सुनियोजित तरीके से किसानों का हक उनसे छीना जा रहा है। किसानों को जीप के नीचे कुचला जा रहा है। उनकी हत्या की जा रही है। जो हत्या करते हैं, बलात्कार करते हैं वो जेल के बाहर होते हैं और जो सरकार के खिलाफ बोल रहा है उसको जेल में बंद किया जा रहा है।'

यह भी पढ़ें: बिना FIR मुझे हिरासत में रखा है, लेकिन अन्नदाताओं को कुचलने वाला गिरफ्तार क्यों नहीं हुआ: प्रियंका गांधी

राहुल गांधी ने आगे कहा कि, 'पूरे देश के किसानों पर व्यवस्थित ढंग से बार-बार आक्रमण हो रहा है। पहला आक्रमण भूमि अधिग्रहण कानून को रिवर्स करने का और दूसरा आक्रमण इन तीन नए कानूनों द्वारा। कल प्रधानमंत्री मोदी लखनऊ में थे, लेकिन लखीमपुर खीरी नहीं जा पाए। हम तीन लोग जा रहे हैं, धारा 144 पांच लोगों को रोकती है, 3 लोग धारा 144 में जा सकते हैं इसलिए हमने उन्हें चिठ्ठी लिख दी है। हम वहां जाकर देखना चाहते हैं, परिस्थिति को समझना चाहते हैं; परिवार को सपोर्ट देना चाहते हैं। बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने राहुल गांधी को आने की अनुमति नहीं दी है।