चक्रवाती तूफान यास का दिखा असर, पश्चिम बंगाल में बारिश का दौर शुरू, ओडिशा तट की ओर बढ़ा साइक्लोन

कोरोना के कहर के बीच यास चक्रवाती तूफान की दस्तक, खतरे के मद्देनजर ओडिशा के 10 जिलों में लॉकडाउन में दी गई छूट, ओडिशा के 8 जिलों में जारी रेड अलर्ट, NDRF की टीमें मुस्तैद

Updated: May 24, 2021, 05:36 PM IST

चक्रवाती तूफान यास का दिखा असर, पश्चिम बंगाल में बारिश का दौर शुरू, ओडिशा तट की ओर बढ़ा साइक्लोन
Photo courtesy: AajTak

भारत में ताउते तूफान के बाद यास चक्रवाती तूफान आमद देनेवाला है। यह तूफान देश के पूर्वी तटीय क्षेत्रों में तबाही मचाने की तैयारी में है। चक्रवाती तूफान यास का प्रभाव दिखने लगा है। पश्चिम बंगाल में बारिश का दौर शुरू हो गया है। यास ओडिशा तट की ओर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। चक्रवाती तूफान यास से ज्यादा खतरों वाले 10 जिलों में लॉकड़ाउन में छूट दी गई है। वहीं ओडिशा के आठ जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

ओडिशा और बंगाल में इस तूफान के खतरे को देखते हुए NDRF की टीमें तैनात कर दी गई हैं। केंद्र सरकार और राज्य सरकारें चक्रवाती तूफान से निपटने की हर तैयारियों पर पैनी निगाह रखे हुए हैं। यास तूफान से बचाव के लिए कोलकाता स्थित 74 पंपिंग स्टेशन की जांच कर ली गई है। NDRF की कुल 75 टीमों को तैयार किया गया है, जिनमें से विभिन्न प्रदेशों 59 टीमें फील्ड पर तैनात कर दी गई हैं, बाकी टीमें स्टैंडबाय मोड पर हैं।

NDRF की टीमों को वायुसेना ने एयरलिफ्ट किया है। ये टीमें कोलकाता, भुवनेश्वर और पोर्ट ब्लेयर पहुंच चुकी हैं। इसी तरह किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए 26 हेलिकॉप्टर्स को भी तैयार रखा गया है।  देश की नौसेना ने भी अपनी ओर से तैयारी कर ली है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग से मिली जानकारी यास चक्रवात का सबसे ज्यादा प्रभाव कोस्टल एरियाज में पड़ने वाला है। जिनमें ओडिशा और पश्चिम बंगाल प्रमुख हैं, वहीं तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भी यह  तूफान तबाही मचा सकता है। IMD ने झारखंड और केरल के में भी आंधी तूफान और मूसलाधार बारिश की आशंका जताई है। वहीं राहत और बचाव के लिए टीमों को मुस्तैद कर दिया गया है।  

 

बंगाल की खाड़ी में रविवार को कम दबाव का क्षेत्र बना था जिसेक बाद पश्चिम बंगाल में बारिश का दौर सोमवार से शुरू हो गया है। यास चक्रवात उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। जो कि 26 मई शाम तक पश्चिम बंगाल-ओडिशा के तटों में पहुंचेगा। इससे पहले पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम और मेघालय में तेज से मध्य वर्षा की चेतावनी जारी की गई है। वहीं तूफान के दौरान 118 से 166 किमी प्रति घंटा की तेज रफ्तार से आंधी और मूसलाधार बारिश का चेतावनी जारी की गई है।