Bihar Elections: आरजेडी ने बागियों पर की कड़ी कार्रवाई, 23 नेता 6 साल के लिए निकालए गए

निकाले गए नेताओं में निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़ रहे पूर्व मंत्री छेदीलाल राम शामिल, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के निर्देश के बाद की गई कार्रवाई

Updated: Oct 26, 2020, 10:49 AM IST

Bihar Elections:  आरजेडी ने बागियों पर की कड़ी कार्रवाई, 23 नेता 6 साल के लिए निकालए गए
Photo Courtesy: Navbharat Times

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव के बीच में ही राष्ट्रीय जनता दल ने अपने बागी नेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। आरजेडी ने पूर्व मंत्री छेदी लाल राम समेत अपने 23 नेताओं को पार्टी से 6 साल के लिए निकाल दिया है। इन नेताओं के खिलाफ ये कार्रवाई पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में की गई है।  दरअसल, बिहार चुनाव में आरजेडी के कई नेता पार्टी का टिकट न मिलने पर बागी तेवर दिखाते हुए चुनाव मैदान में उतर गए हैं। ऐसे में पार्टी ने संबंधित जिला अध्यक्षों की सिफारिश के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की है।

आरजेडी ने जिन नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया है, इनमें पार्टी के कई कद्दावर और वरिष्ठ नेता भी शामिल हैं। मिसाल के तौर पर 6 साल के लिए पार्टी से निकाले गए छेदीलाल राम बिहार की आरजेडी सरकार में मंत्री रह चुके हैं। छेदीलाल राम राजपुर विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। पार्टी से निकाले गए नेताओं में बक्सर, बांका और पश्चिम चम्पारण ज़िले के कई नाम शामिल हैं। बक्सर जिले के आठ, पश्चिम चंपारण जिले के आठ और बांका जिले के छह नेताओं को निकाला गया है।

जानकारी के मुताबिक, आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के निर्देश के बाद इन नेताओं को बाहर निकालने का फैसला लिया गया। पार्टी की ओर से जारी आदेश में बताया गया है कि बांका, बक्सर और पश्चिम चंपारण के 23 बागी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इन इलाकों से पार्टी के जिला अध्यक्षों ने इन नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और कार्रवाई की सिफारिश की थी। गौरतलब है कि बिहार में बीजेपी भी अब तक अपने 15 बागी नेताओं को पार्टी से निष्कासित कर चुकी है।