मीडिया संस्थानों पर कार्रवाई के खिलाफ एकजुट हुआ विपक्ष, राज्यसभा और लोकसभा में ज़ोरदार विरोध

दैनिक भास्कर ग्रुप और उत्तर प्रदेश के टीवी चैनल भारत समाचार के कार्यालयों पर आयकर विभाग की दबिश, राज्य सभा और लोक सभा में जोरदार हंगामा

Updated: Jul 22, 2021, 03:51 PM IST

मीडिया संस्थानों पर कार्रवाई के खिलाफ एकजुट हुआ विपक्ष, राज्यसभा और लोकसभा में ज़ोरदार विरोध
Photo Courtesy: NDTV

नई दिल्ली। देश के प्रमुख हिंदी मीडिया संस्थान दैनिक भास्कर ग्रुप और उत्तर प्रदेश के टीवी न्यूज़ चैनल भारत समाचार के ठिकानों पर इनकम टैक्स  की छापेमारी पर देश के सियासी गलियारों में बवाल मच गया है। विपक्ष के सभी नेताओं ने इस कार्रवाई को मीडिया की आवाज कुचलने का प्रयास करार दिया है। मामले पर लोक सभा और राज्य सभा दोनों सदनों में विपक्षी सांसदों ने जमकर हंगामा किया है। हंगामे के बाद राज्य सभा की कार्रवाई 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

राज्य सभा में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस समेत अन्य दलों ने के सांसदों ने इस कार्रवाई के ख़िलाफ़ जमकर नारेबाजी की। बवाल बढ़ता देख स्पीकर ने सदन की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। उधर लोक सभा में भी विपक्षी सांसदों ने पेगासस से लेकर मीडिया की आवाज़ को कुचलने के मुद्दे पर सरकार को चौतरफा घेर लिया था। लोक सभा स्पीकर ने भी हंगामा बढ़ता देख सदन की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

मामले पर कांग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया, 'एक समय था जब स्पष्ट, स्वतंत्र और निर्भीक रिपोर्टिंग की प्रशंसा की जाती थी। यह रिपोर्टिंग सरकार में गलत काम करने वालों को डराती थी। अब सरकार की ओर से डराया-धमकाया जाता है। भारत को फलने-फूलने के लिए दैनिक भास्कर जैसे अखबार की जरूरत है। मैं उनके साथ खड़ा हूं।' 

मीडिया की आवाज दबाने का प्रयास- केजरीवाल

इस घटना को लेकर दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने बेहद तल्ख टिप्पणी की है। आम आदमी पार्टी सुप्रीमो ने लिखा, 'दैनिक भास्कर और भारत समाचार पर आयकर छापे मीडिया को डराने का प्रयास है। उनका संदेश साफ़ है- जो भाजपा सरकार के ख़िलाफ़ बोलेगा, उसे बख्शेंगे नहीं।ऐसी सोच बेहद ख़तरनाक है।सभी को इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठानी चाहिए। ये छापे तुरंत बंद किए जायें और मीडिया को स्वतंत्र रूप से काम करने दिया जाए।' 

मामले पर टीएमसी के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रॉयन ने ट्वीट किया, 'ये इस बात को साबित करता है कि मोदी-शाह किस हद तक डरे हुए हैं। रीढ़ की हड्डी वाले मीडिया, तुम मजबूत बने रहो।'

रिपोर्ट्स के मुताबिक आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन टीम भोपाल के प्रेस कॉम्प्लेक्स स्थित मुख्यालय सहित करीब आधा दर्जन ठिकानों पर छापे डाल रही है। भास्कर के इंदौर, नोएडा और जयपुर कार्यालय में भी टीमें जांच कर रही हैं। माना जा रहा है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भास्कर ग्रुप और भारत समाचार ने सरकारी मिसमैनेजमेंट के खिलाफ निर्भीकता से रिपोर्टिंग की है। इस बात से नाखुश सेेरकर इनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।