सचिन पायलट ने राजस्थान में किसान आंदोलन के समर्थन में छेड़ी मुहिम, गाँव-गांव जाकर बढ़ाएँगे जागरूकता

Sachin Pilot: राजस्थान में किसान आंदोलन के समर्थन में सचिन पायलट का जनसंपर्क अभियान आज से शुरू, दो दिन में 21 ग्राम पंचायतों में करेंगे जन-संपर्क

Updated: Jan 10, 2021, 03:33 PM IST

सचिन पायलट ने राजस्थान में किसान आंदोलन के समर्थन में छेड़ी मुहिम, गाँव-गांव जाकर बढ़ाएँगे जागरूकता
Photo Courtesy: TOI

टोंक। राजस्थान के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में मुहिम छेड़ दी है। पायलट रविवार से राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों में किसान बचाओ - देश बचाओ यात्रा के तहत सघन जनसंपर्क करेंगे। इस दौरान पायलट केंद्रीय कृषि कानूनों के दुष्परिणामों के बारे में किसानों और आम लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने का काम करेंगे। सचिन पायलट अपनी इस मुहिम के तहत दो दिनों में 21 ग्राम पंचायतों में जन-संपर्क करने जा रहे हैं।

सचिन पायलट का यह किसान बचाओ यात्रा कई मायनों में अहम माना जा रहा है। वे पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि वे राष्ट्रीय कार्यकारिणी में नहीं जाएंगे और राजस्थान में ही संगठन को मजबूत करेंगे। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि वे इस यात्रा के साथ ही साल 2023 विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं और अपनी राजनीतिक जमीन को और मज़बूत कर रहे हैं।

सचिन पायलट का कार्यक्रम

जानकारी के मुताबिक पायलट 10 एवं 11 जनवरी को अपने गृह क्षेत्र टोंक विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों का दौरा करेंगे। कार्यक्रम के अनुसार वे 10 जनवरी को जयपुर से सड़क मार्ग द्वारा प्रस्थान कर सुबह 10.30 बजे टोंक की ग्राम पंचायत चन्दलाई, 11 बजे लवादर, 11.30 बजे घांस और दोपहर 12 बजे हरचन्देडा में रहेंगे। इसके बाद वे दोपहर 1.30 बजे बमोर,  2 बजे सोनवा,  2.30 बजे अरनियामाल में होंगे। इसके बाद सचिन पायलट दोपहर 3 बजे काबरा, 3.30 बजे ताखोली, शाम 4 बजे सांखना, 4.30 बजे छान, 5 बजे दाखिया और 5.30 बजे ग्राम पंचायत लाम्बा पहुंचेंगे।

अगले दिन यानी सोमवार को वे सुबह 11 बजे ग्राम पंचायत सोरण, प्रातः 11.30 बजे देवपुरा, दोपहर 12 बजे अरनियाकेदार, दोपहर 1 बजे मण्डावर, दोपहर 1.30 बजे देवलीभांची, दोपहर 2 बजे हथोना, दोपहर 2.30 बजे पराना तथा अपरांह 3 बजे ग्राम पंचायत बरोनी पहुंचेंगे और किसानों के बीच अपनी बात रखेंगे। सचिन पायलट के दौरे से इस कार्यक्रम से साफ है कि उन्होंने किसानों के मुद्दे को लेकर राजस्थान में कितना सघन अभियान छेड़ दिया है।