वैक्सीन ही नहीं तो दिसंबर तक कैसे होगा सभी का टीकाकरण, शशि थरूर का मोदी सरकार से सवाल

स्वयं कोरोना से जूझ रहे कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सभी को मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध करवाने की अपील की है, कहा वैक्सीन पॉलिसी में हो बदलाव

Updated: Jun 03, 2021, 04:02 PM IST

वैक्सीन ही नहीं तो दिसंबर तक कैसे होगा सभी का टीकाकरण, शशि थरूर का मोदी सरकार से सवाल
Photo Courtesy: India Today

त्रिवेंद्रम। कोरोना से पीड़ित कांग्रेस नेता शशि थरूर ने केंद्र से अपील की है कि सभी भारतीयों का जल्द से जल्द मुफ्त में वैक्सिनेशन किया जाए। स्वयं महामारी से लड़ रहे थरूर अप्रैल में ही संक्रमित पाए गए थे और अभी तक पूरी तरह से स्वस्थ नहीं बताए जा रहे हैं। लेकिन उन्होंने देश वासियों की चिंता में बेड से ही एक वीडियो अपील की है। उन्होंने कहा है कि देश को कोरोना से बचाना होगा और इसके लिए पूरी जनसंख्या को फ्री में कोविड के टीके लगवाने होंगे। उन्होंने अस्पताल के बिस्तर से ही वैक्सीन पॉलिसी में बदलाव को लेकर एक वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया है।

कांग्रेस सांसद ने बुधवार को जारी किए वीडियो के माध्यम से केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि वर्तमान वैक्सीन पॉलिसी के तहत पूरी जनसंख्या को टीका लगाना नामुमकिन है। उन्होंने याद दिलाया कि केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर ने वादा किया है कि सभी भारतीय इस साल के अंत तक यानी दिसंबर 2021 तक वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में आ जाएंगे। थरूर ने केंद्र से पूछा है कि बिना स्पष्ट वैक्सीन पॉलिसी बनाए आप इन दावों को संभव करने का विचार कैसे बना रहे हैं? 

थरूर ने कहा, ‘सरकार की वैक्सिनेशन पॉलिसी में बदलाव के लिए मैं कांग्रेस के इस अभियान का समर्थन करता हूं जिसमें मांग की गई है कि सभी भारतीयों की पहुंच दुनिया की अलग-अलग वैक्सीन तक हो। सरकार द्वारा तय की गई समय सीमा के भीतर भारतीयों का टीकाकरण मुफ्त में किया जाए।'  उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा, 'जैसा कि आप देख सकते हैं, मैं बिस्तर पर हूं। लॉन्ग कोविड संक्रमण से पीड़ित हूं। मैंने सरकारी बयान देखा कि दिसंबर के अंत तक सभी को टीका लग जाएगा। जबकि टीकों की उपलब्धता या टीकों की कमी को देखते हुए मुझे आश्चर्य है कि सरकार यह कैसे कर पाएगी?'

यह भी पढ़ें: एक साल में तीसरी बार बढ़ा हवाई किराया, सरकार ने किराए में की 16 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी

हाल ही में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कहा था कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने 216 करोड़ वैक्सीन के टीके बनाने का रोडमैप तैयार कर लिया है और दिसंबर तक 108 करोड़ जनता टीके के सुरक्षा घेरे में आ जाएगी। उन्होंने कांग्रेस और राहुल गांधी के इन दावों को भी सिरे से नकार दिया था कि पूरी जनसंख्या को टीका लगवाने में कम से कम तीन साल लग जाएंगे। भारत में जनवरी से अब तक लगभग 22 करोड़ वैक्सीन डोज लगाए जा चुके हैं। इनमें महज 4.36 करोड़ लोग ही दोनों डोज डोज ले पाए हैं।