CDS बिपिन रावत समेत 13 लोगों के शव मद्रास रेजिमेंटल सेंटर लाए गए, सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने नम आंखों से दी श्रद्धांजलि

गुरूवार शाम दिल्ली लाया जाएगा जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी का शव, शुक्रवार को अंतिम दर्शन कर सकेंगे लोग, दिल्ली छावनी में सैन्य परंपरा के अनुसार शुक्रवार को होगा अंतिम संस्कार

Updated: Dec 09, 2021, 01:14 PM IST

CDS बिपिन रावत समेत 13 लोगों के शव मद्रास रेजिमेंटल सेंटर लाए गए, सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने नम आंखों से दी श्रद्धांजलि
Photo Courtesy: twitter

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत का शव नीलगिरि के आर्मी अस्पताल वेलिंगटन से मद्रास रेजिमेंटल सेंटर लाया गया है। उनके साथ उनकी पत्नी मधुलिका समेत हादसे में जान गंवाने वाले 13 लोगों के शव भी लाए गए हैं। मद्रास रेजिमेंटल सेंटर में सेना के प्रमुख सीनियर अधिकारी मौजूद थे। यहां पर सभी ने CDS बिपिन रावत और सेना के सभी जवानों को नम आंखों से श्रद्धांजलि दी। 

और पढ़ें: अंतराष्ट्रीय स्तर पर 7 हजार लोगों की जान बचा चुके हैं CDS बिपिन रावत, 2015 में भी हुए थे हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार

जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का शव गुरुवार शाम दिल्ली लाया जाएगा। शुक्रवार को 11 बजे से 2 बजे तक उनके घर पर अंतिम दर्शन किए जा सकेंगे। जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी का अंतिम संस्कार शुक्रवार को दिल्ली छावनी में होगा। 

और पढ़ें: हेलीकॉप्टर क्रैश: जल्द सुलझेगी हादसे की गुत्थी, स्पेशल टीम ने ढूंढ निकाला ब्लैक बॉक्स, जानें क्या है ये बॉक्स

बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में आर्मी के हेलिकॉप्टर हादसे में खराब मौसम की वजह से उनका हेलिकॉप्टर दुर्घटना ग्रस्त हो गया था। जिसमें 13 लोगों की मौत हो गई थी।

और पढ़ें: शहडोल राजघराने के दामाद थे CDS बिपिन रावत, कांग्रेस नेता मृगेंद्र सिंह की बेटी थीं मधुलिका रावत

एक जवान की हालत गंभीर है। इस बीच दुर्घटना ग्रस्त हेलिकॉप्टर MI-17 V5 का ब्लैक बॉक्स खोज निकाला गया है। एयरफोर्स की स्पेशल टीम ने क्रैश के मलबे से ब्लैक बॉक्स गुरुवार को खोज लिया है। इससे उम्मीद है कि हेलिकॉप्टर क्रैश की मुख्य वजह पता चल सकेगी।