केंद्र सरकार ने 22 यूट्यूब चैनलों को किया ब्लॉक, देश की सुरक्षा के लिए बताया खतरा

केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 22 यूट्यूब चैनलों के भारत में प्रसारण पर रोक लगा दी है, इन चैनलों को तत्काल प्रभाव से ब्लॉक कर दिया गया है, इनमें से 4 चैनल पड़ोसी देश पाकिस्तान के हैं

Updated: Apr 05, 2022, 04:49 PM IST

केंद्र सरकार ने 22 यूट्यूब चैनलों को किया ब्लॉक, देश की सुरक्षा के लिए बताया खतरा
Photo Courtesy: The Indian Express

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 22 यूट्यूब चैनलों के भारत में प्रसारण पर रोक लगा दी है। इन चैनलों को तत्काल प्रभाव से ब्लॉक कर दिया गया है। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के आदेश पर यह कार्रवाई की गई है। इन चैनलों को भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश संबंधों और सार्वजनिक व्यवस्था से संबंधित दुष्प्रचार फैलाने के आरोप में ब्लॉक किया गया है। 

आईटी नियम, 2021 के तहत पहली बार इतनी संख्या YouTube समाचार चैनल ब्लॉक किए गए हैं। इनमें 18 चैनल भारतीय हैं, जबकि 4 पाकिस्तानी यूट्यूब चैनल भी ब्लॉक किए गए हैं। यूट्यूब चैनलों ने दर्शकों को गुमराह करने के लिए टीवी समाचार चैनलों के लोगो और झूठे थंबनेल का इस्तेमाल किया था। इन चैनलों के अलावा 3 ट्विटर अकाउंट, 1 ​​फेसबुक अकाउंट और 1 न्यूज वेबसाइट को भी ब्लॉक कर दिया गया है। 

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के लिए आगे की राह पहले से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण है: CPP की बैठक में बोलीं सोनिया गांधी

सरकार ने एक बयान में कहा की इन चैनलों द्वारा वर्तमान यूक्रेन संकट को लेकर काफी मात्रा में असत्य या फॉल्स कंटेंट को भारतीय यूट्यूब चैनलों पर प्रसारित किया जा रहा है। ये कंटेंट भारत का अन्य देशों से संबंध को प्रभावित करने के मकसद से प्रसारित किए जाते हैं। इससे विदेश संबंध खराब होता है और भारत का अन्य देशों के साथ संबंधों को जोखिम में डालता है।

सूचना मंत्रालय ने जनवरी में 35 चैनलों को ब्लॉक कर दिया था। इसके अलावा दो वेबसाइटों पर भी रोक लगाई गई थी। सरकार का कहना था कि ये चैनल और वेबसाइट भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा फैला रहे थे। सूचना एवं प्रसारण सचिव अपूर्वा चंद्रा ने कहा था कि ये चैनल कॉर्डिनेटेड तरीके से भारत के खिलाफ एजेंडा चलाने में जुटे थे।