US Capitol हिंसा में भारतीय झंडे लहराने के विवाद पर शशि थरूर और वरुण गांधी का ट्विटर वॉर

वरुण गांधी ने आरोप लगाया कि ट्रंप के समर्थन में भारतीय झंडा लहराने वाला शख्स शशि थरूर का जानकार था, इसपर थरूर ने जवाब दिया कि अगर आपके जानने वाले कुछ ऐसा करेंगे तो क्या आप जिम्मेदारी लेंगे

Updated: Jan 08, 2021, 09:44 PM IST

US Capitol हिंसा में भारतीय झंडे लहराने के विवाद पर शशि थरूर और वरुण गांधी का ट्विटर वॉर

नई दिल्ली। अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन डीसी में ट्रंप समर्थकों द्वारा की गई हिंसा के दौरान भारतीय झंडा दिखाने को लेकर उपजे विवाद में शशि थरूर ने वरुण गांधी को जवाब दिया है। वरुण गांधी के इस आरोप पर कि भारतीय झंडा लहराने वाला व्यक्ति थरूर की पहचान का था, थरूर में कहा है कि आपका चाहने वाला कोई यदि इस तरह का कृत्य करता तो क्या आप इसकी जिम्मेदारी लेते? थरूर ने इस कृत्य की निंदा की है।

वहीं कैपिटल हिल के बाहर भारतीय झंडा लहराने वाले व्यक्ति ने भी शशि थरूर और वरुण गांधी को ट्विटर पर टैग कर सफाई दिया है। झंडा फहराने वाला व्यक्ति विंसेंट जेवियर ने कहा है कि अमेरिकी देशभक्त जो लोग भी इस बात को मानते हैं कि वोटिंग प्रक्रिया में बड़े स्तर पर फ्रॉड हुआ है वे सब डोनाल्ड ट्रंप के साथ थे और ट्रंप के समर्थन में शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे। उसने बताया है कि प्रदर्शन में ईरान, वियतनाम, इंडिया, कोरिया सहित अन्य कई देशों के लोग भी थे। इसके साथ ही उसने तस्वीरें भी साझा की है जिनमें इन देशों का झंडा लिए लोग देखे जा सकते हैं।

 

क्या है पूरा मामला

दरअसल, अमेरिका में 6 जनवरी को ट्रंप समर्थकों ने वहां की संसद, कैपिटल हिल में जमकर हंगामा किया। ट्रंप समर्थकों ने उग्र प्रदर्शन और हिंसा के दौरान सीनेट पर कब्जे की भी कोशिश की। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान हजारों प्रदर्शनकारियों की भीड़ में एक भारतीय झंडा भी लहरा रहा था जिसके वीडियो से भारत में सोशल मीडिया का माहौल गर्म है। बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने इसे लेकर सवाल उठाया कि वहां भारतीय झंडा क्यों है? गांधी ने आगे कहा कि यह एक ऐसी लड़ाई है जिसमें निश्चित तौर पर हमें शामिल होने की जरूरत नहीं है।

 

 

गांधी के इस ट्वीट पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने तंज कसते हुए कहा कि भारत के कुछ लोग भी ट्रंप की मानसिकता वाले हैं। थरूर ने ट्वीट किया, 'वरुण दुर्भाग्य से कुछ भारतीय भी उसी मानसिकता के साथ हैं जैसी ट्रंप समर्थक भीड़ है। ये गर्व के प्रतीक की बजाए राष्ट्रीय ध्वज का आनंद हथियार के रूप में लेते हैं और जो उनसे असहमति रखते हैं उन्हें देशद्रोही घोषित कर दिया जाता है। वॉशिंगटन में झंडा लहराया जाना हम सब के लिए चेतावनी है।

यह भी पढ़ें: वॉशिंगटन में 15 दिन के लिए इमरजेंसी घोषित, अमेरिकी संसद पर हमले में 4 की मौत, 52 उपद्रवी गिरफ्तार

इस दौरान वरुण गांधी अन्य ट्वीटर यूजर्स के भी निशाने पर रहे। ट्विटर यूजर्स ने इस घटना को लेकर बीजेपी, वरुण गांधी और यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी जमकर ट्रोल किया। कई यूजर्स पीएम मोदी और ट्रंप की तस्वीरें पोस्ट कर वरुण को हाउडी मोदी और नमस्ते ट्रंप जैसे आयोजनों की याद दिला रहे थे तो कुछ लोग इस भीड़ की तुलना बाबरी ढहाने वाली भीड़ से कर रहे थे। 

 

इसके अगले ही दिन वरुण गांधी ने झंडा फहराने वाले व्यक्ति को शशि थरूर के पहचान का व्यक्ति बताते हुए उन्हें निशाने पर लेना चाहा। वरुण ने ट्वीट किया, 'प्रिय शशि थरूर अब हम जान चुके हैं कि वह पागल आदमी आपका दोस्त है। कोई बस यह उम्मीद कर सकता है कि आप और आपके साथ वाले इस दौरान चुपचाप पीछे खड़े नहीं थे।' इसके जवाब में थरूर ने लिखा, 'मैं इसका समर्थन नहीं करता हूं। क्या आप अपने हर शुभचिंतक के ऐसे कृत्यों के लिए खुद को जिम्मेदार मानते हैं? मैं अपने देश के प्रिय झंडे को शर्मनाक अमेरिकी भीड़ में लाने के किसी भी प्रयास की निंदा करता हूं।'