सूरत के व्यापारी ने 300 बेटियों के कन्यादान का उठाया बीड़ा, अनाथालय में रह रही बच्चियों का करवाया ब्याह

एक ही मंडप के नीचे सभी धर्मों की बेटियों की शादी, शनिवार और रविवार को निभाई शादी की रस्में, इससे पहले भी करवा चुके हैं सैकड़ों बच्चियों की शादी

Updated: Dec 05, 2021, 12:33 PM IST

सूरत के व्यापारी ने 300 बेटियों के कन्यादान का उठाया बीड़ा, अनाथालय में रह रही बच्चियों का करवाया ब्याह
Photo Courtesy: twitter

सूरत। गुजरात के सूरत में 300 लड़कियां अपने जीवन की नई शुरूआत करने जा रही है। अनाथालय में रह रही लड़कियों के कन्यादान का जिम्मेदारी उठाने का काम यहां के एक व्यापारी कर रहे हैं। महेश सवाणी ने अनाथ लड़कियों के दत्तक पिता बनने का संकल्प लिया है। वे हर साल सैकड़ों बच्चियों का जीवन संवारने का काम करते हैं। शनिवार और रविवार के दिन आयोजित समारोह में 300 अनाथ लड़कियों की शादी होगी। इस सामूहिक विवाह के दौरान विभिन्न धर्मों की बेटियों की डोली उठेगी। हिन्दू के साथ-साथ मुस्लिम, सिख और ईसाई रितिरिवाजों से शादियां हो रही हैं। बड़ी संख्या में शनिवार को शादियां हुई, वहीं कुछ लड़कियों का कन्यादान रविवार को किया जा रहा है। बेटियों को विदा करने के दौरन महेश सवाणी की आंखें नम नजर आईं।

 सामूहिक शादी होने के बाद भी शादी की सारी रस्में विधि-विधान से हुई। हल्दी और मेहंदी की रस्में रखीं गई। इस मेंहदी के कार्यक्रम के दौरान हजारों महिलाएं मौजूद थीं। महेश सवाणी गुजरात के जानेमाने व्यापारी हैं, जो कि हर साल सामूहिक विवाह का आयोजन करता है।

महेश सवाणी गुजरात में पिछले 10 सालों से सामूहिक विवाह का आयोजन कर रहे हैं। वे अनाथ बेटियों को दत्तक पिता बनकर उनकी शादी की जिम्मेदारी उठाते हैं। इस साल 300 युगलों की शादी वे करवा रहे हैं।महेश सवानी का मानना है कि दुल्हनों को देना भगवान का आशीर्वाद है।

महेश सवानी अनाथ बेटियों को उनकी नई जिंदगी की शुरुआत के लिए बर्तन, फर्नीचर समेत जरूरी सामान उपहार में देते हैं ताकि ये गरीब बच्चियां आराम से जीवन की शुरुआत कर सकें। अब  तक वे हजारों लड़कियों का घर बसा चुके हैं।