छत्तीसगढ़ में एक दिन में 219 लोगों की कोरोना से मौत, एक दिन में मिले 17 हजार से ज्यादा नए मरीज, भयावह हो रही स्थिति

छत्तीसगढ़ में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 1.23 लाख से ज्यादा, प्रदेश में पॉजिटिविटी दर 30.42 प्रतिशत हुई, लॉकडाउन बढ़ने की आशंका

Updated: Apr 24, 2021, 11:56 AM IST

छत्तीसगढ़ में एक दिन में 219 लोगों की कोरोना से मौत, एक दिन में मिले 17 हजार से ज्यादा नए मरीज, भयावह हो रही स्थिति
Photo courtesy: news 18

रायपुर। बीते 24 घंटों में छत्तीसगढ़ में कोरोना कहर बनकर बरपा है। शुक्रवार को एक ही दिन में रिकॉर्ड 57 हजार लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ है। जिनमें से 17,397 नए केस मिले हैं। एक दिन में अब तक की सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं, शुक्रवार को कोरोना की वजह से 219 लोगों ने दम तोड़ा है। बिलासपुर में 40, कोरबा में 19, धमतरी में 14 और राजनांदगांव में 11 मरीजों की मौत हुई। बिलासपुर में मृतकों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है।

कोरोना से 219 मौतें कुल 20 जिलों में हुई हैं। राज्य में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख 23 हजार 479 तक पहुंच गई है। कोरोना से मरने वालों का कुल आंकड़ा 6,893 हो गया है। जानकारों की मानें तो छत्तीसगढ़ में कोरोना के कम्यूनिटी स्प्रेड का दावा किया जा रहा है। जिसकी वजह से कोविड 19 का कहर बेकाबू हो रहा है, महामारी में बेहद खतरनाक दौर पर पहुंच चुकी है।

प्रदेश में 10 लाख की आबादी पर 1,915 कोरोना टेस्ट प्रतिदिन करने का दावा किया जा रहा है। शुक्रवार को 57,185 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ था। जिनमें से17,397 नए संक्रमित हुए हैं। इन टेस्ट्स में 40 प्रतिशत RTPCR  टेस्ट थे। रायपुर में 3215, दुर्ग 11857, राजनांदगांव 937, बालोद 363, बेमेतरा 421, कबीरधाम 444, धमतरी 470, बलौदाबाजार 801, महासमुंद 479, गरियाबंद 332, बिलासपुर 1317 समेत अन्य जिलों के मरीज शामिल हैं।

प्रदेश के सभी जिलों में बाहर से आने वालों पर सख्ती की जा रही है। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या फिर सड़क मार्ग के रास्ते छत्तीसगढ़ पहुंचने वालों को 27 अप्रैल से 72 घंटे पहले की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य किया जा रहा है। रिपोर्ट नहीं लाने पर प्रशासन द्वारा मौके पर ही यात्रियों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा। नेगेटिव रिपोर्ट होने पर होम क्वारेंटाइन और पॉजिटिव पाए जाने पर अस्पताल या आइसोलेशन सेंटर भेज दिया जाएगा। इस जांच का सारा खर्च संबंधित यात्रियों को ही उठाना होगा।

वहीं बेकाबू स्थिति के मद्देनजर सभी जिलों में लॉकडाउन आगे बढ़ाने आशंका है, कई जिलों में 26 अप्रैल को लॉकडाउन की मियाद खत्म हो रही है, लेकिन वर्तमान परिस्थतियों में फिलहाल लाकडाउन खत्म होने की उम्मीद नहीं दिख रही है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ सरकार में कोरोना से निपटने के लिए निजी अस्पतालों में कोरोना का इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है। जिससे मरीजों को ज्यादा से ज्यादा इलाज मिल सके।