छत्तीसगढ़ में 1 अप्रैल से बिना सर्टिफिकेट कोविड वैक्सीन की व्यवस्था, 45 पार के सभी नागरिकों को मिलेगी सुविधा

24 घंटे में प्रदेश में 1423 नए कोरोना संक्रमित मरीज़ों के मिलने से सरकार चिंतित, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा लाकडाउन लगाने की पड़ सकती है ज़रूरत

Updated: Mar 30, 2021, 05:00 PM IST

छत्तीसगढ़ में 1 अप्रैल से बिना सर्टिफिकेट कोविड वैक्सीन की व्यवस्था, 45 पार के सभी नागरिकों को मिलेगी सुविधा
Photo Courtesy: The Financial Express

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना मरीजों की संख्या बढती जा रही है। बीते 24 घंटे में प्रदेश में 1423 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। जिसके बाद कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3 लाख 41 हज़ार 516 तक पहुंच गया है। वहीं इनमें से करीब 3 लाख 17 हज़ार 239 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 20 हजार 181 है। 

वहीं कई जिलों में नए मरीजों के बढ़ने पर हेल्थ मिनिस्टर टीएस सिंहदेव ने चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि संक्रमित मरीजों का बढ़ना अच्छा साइन नहीं है, अगर ऐसी स्थिति रही तो सरकार लाॉकडाउन लगाने पर मजबूर हो सकती है। ताकि संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके।

प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन का काम भी जारी है। इस बीच सरकार ने केंद्र का आदेश मानते हुए 45 साल से अधिक को सभी लोगों को कोरोना टीकाकरण का आदेश जारी कर दिया है। सरकार के इस फैसले से प्रदेश के करीब 58 लाख से अधिक लोगों को लाभ होगा।

 गौरतलब है कि प्रदेश में अब तक करीब 18 लाख से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। सरकार का टागरेट रोजाना करीब एक लाख लोगों वैक्सीन का डोज देना है, सरकार इसे बढ़ाने की तैयारी है। केंद्र सरकार के निर्देश के बाद छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है। 

 

देशभर के साथ छत्तीसगढ़ में भी कोरोना वैक्सीनेशन का काम 16 जनवरी से शुरू हुआ था। स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स, रेवेन्यू, पुलिस विभाग के कर्मचारियों को डोज दी गई है। इस श्रेणी में पुलिस, राजस्व कर्मी और नगरीय निकायों के कर्मचारी शामिल हैं। गौरतलब है कि एक मार्च से 60 साल से ज्यादा के बुजुर्गों और 45 साल से अधिक के बीमार लोगों को टीका लग रहा था। अब एक अप्रैल से बिना किसी मेडिकल सर्टिफिकेट वाले 45 साल से ज्यादा के लोगों का वैक्सीनेशन का रास्ता साफ हो गया है।