नियमितीकरण की मांग पर अड़े छत्तीसगढ़ के बिजली संविदाकर्मी, मुंडन करवाकर किया अनोखा विरोध प्रदर्शन

रायपुर में सैकड़ों बिजली संविदा कर्मचारियों ने सामूहिक मुंडन करवाकर नियमितिकरण, अनुकंपा नियुक्ति और मुआवजे समेत कई मांग को लेकर किया प्रदर्शन, बेमियादी भूख हड़ताल की भी दी चेतावनी, इससे पहले सड़क पर लेटकर किया था प्रदर्शन

Updated: Aug 19, 2021, 05:25 PM IST

नियमितीकरण की मांग पर अड़े छत्तीसगढ़ के बिजली संविदाकर्मी, मुंडन करवाकर किया अनोखा विरोध प्रदर्शन
Photo courtesy: twitter

रायपुर। राजधानी में बिजली विभाग के संविदा कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। वे अपनी तीन मांगें पूरी करावने पर अड़े हैं। उनकी मांग है कि उन्हें नियमित किया जाए, जिन संविदा कर्मचारियों की ड्यूटी के दौरान मृत्यु हो गई है। या फिर वे इस दौरान  हादसों का शिकार होकर अपंग हो गए हैं। उन्हें प्रदेश सरकार की ओर से मुआवज़ा दिया जाए। संविदाकर्मियों का कहना कई बार अफसरों से मीटिंग हुई है लेकिन फिर भी इन समस्याओं का कोई हल नहीं निकला है।

बिजली विभाग के संविदा कर्मचारी 10 दिनों से रायपुर के बूढ़ातालाब पर बेमियादी हड़ताल पर बैठे थे। कर्मचारियों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी जाती तो वे अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करेंगे।

बिजली कंपनी के संविदा कर्मियों की तीन प्रमुख मांगें हैं। वे नियमितीकरण, विद्युत दुर्घटनाओं में मृत्यु होने पर उचित मुआवज़ा और परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति और अपंग होने की स्थिति में उचित मुआवजे की मांग कर रहे हैं। गुरुवार को इन प्रदर्शनकारियों ने सामूहिक मुंडन करवाया था। वहीं इससे पहले उन्होंने सड़कों पर लेटकर अपनी मांगें मनवाने की कोशिश की थी।