Marwahi By Election: जाति विवाद में रेनू और ऋचा जोगी ने राज्यपाल से लगाई गुहार, जबरन परेशान किए जाने का लगाया आरोप

ऋचा जोगी का दावा, जाति विवाद में जांच समिति का कोई नोटिस उन्हें नहीं मिला, गुरुवार को ही था जवाब देने का आखिरी दिन

Updated: Oct 08, 2020, 07:19 PM IST

Marwahi By Election: जाति विवाद में रेनू और ऋचा जोगी ने राज्यपाल से लगाई गुहार, जबरन परेशान किए जाने का लगाया आरोप
Photo Courtesy: Newsd

रायपुर। छत्तीसगढ़ की एक मात्र उपचुनाव वाली सीट मरवाही का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। जाति प्रमाण पत्र को लेकर उपजे विवाद में अमित जोगी की पत्नी ऋचा जोगी ने किसी भी तरह का नोटिस मिलने की बात से इनकार किया है। उनका कहना है कि अगर नोटिस मिलेगा तो वह सुनवाई में जरूर पहुंचे जाएंगी। आपको बता दें कि मुंगेली की जिला स्तरीय जांच समिति ने ऋचा को नोटिस भेजा है। जिसका जवाब देने का अंतिम दिन गुरुवार को था। ऋचा ने कहा कि उन्हें गुरुवार तक कोई नोटिस नहीं मिला है।

और पढ़ें: Marwahi By Election: पत्नी की जाति पर सवाल उठाने वालों को अमित जोगी की खरी-खरी

इस मामले में अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी और उनकी बहू ऋचा जोगी ने राज्यपाल से गुहार लगाई है। उनका आरोप है कि कांग्रेस की नीयत मरवाही सीट को लेकर साफ नहीं है। सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जोगी परिवार को चुनाव में रोकने की हर संभव कोशिश की जा रही है। ऋचा की जाति पर सवाल उठाने का मकसद परिवार को परेशान करना है।  

और पढ़ें: Marwahi By Election: ऋचा जोगी की जाति पर भी उठे सवाल

ऋचा जोगी का कहना है कि आधार कार्ड और जाति प्रमाणपत्र में जो पता उन्होंने दिया था वहां कोई नोटिस नहीं आया है। जोगी दंपति ने अंधेरे में रखकर कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। ऋचा जोगी ने मुंगेली कलेक्टर से नोटिस और जाति प्रमाण पत्र की कॉपी मांगी है। ऋचा जोगी का कहना है कि वे हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं। वे अपने सभी प्रमाण पत्रों की कॉपी जिला छानबीन समिति को भेज रही हैं। जिन दस्तावेजों के आधार पर राज्य सरकार ने जाति प्रमाणपत्र जारी किया गया था। आपको बता दें की बीजेपी के बाद कांग्रेस विधायकों ने भी राज्यपाल से भी ऋचा जोगी की जाति के मामले में शिकायत की है।