क्रिप्टो करेंसी हमारे युवाओं को बर्बाद कर सकता है, प्रधानमंत्री मोदी का अहम बयान

पीएम मोदी ने सिडनी डायलॉग को संबोधित करते हुए कहा कि हमें यह कोशिश करनी होगी कि क्रिप्टो करेंसी और बिटकॉइन गलत हाथों में न जाए, यह युवाओं को बर्बाद कर सकता है

Updated: Nov 18, 2021, 03:47 PM IST

क्रिप्टो करेंसी हमारे युवाओं को बर्बाद कर सकता है, प्रधानमंत्री मोदी का अहम बयान
Photo Courtesy: Aajtak

नई दिल्ली। क्रिप्टो करेंसी को लेकर इन दिनों भारत में चर्चाएं गरम है। बिटकॉइन जैसे डिजिटल करेंसी को लेकर केंद्र सरकार का स्टैंड भी तेजी से बदल रहा है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्रिप्टो करेंसी को लेकर बड़ा बयान दिया। पीएम मोदी ने चिंता जताते हुए कहा है कि यह हमारे युवाओं को बर्बाद कर सकता है। प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय में आया है जब इसी हफ्ते एक संसदीय समिति ने क्रिप्टो करेंसी को वैधता देने की सिफारिश की है।

पीएम मोदी गुरुवार को डिजिटल माध्यम से सिडनी डायलाग को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने क्रिप्टो करेंसी के भविष्य को लेकर चिंता जताई। प्रधानमंत्री ने कहा कि, 'क्रिप्टो करेंसी या बिटकॉइन का उदाहरण ले लीजिए। सभी लोकतांत्रिक देशों को इस पर मिलकर काम करना होगा। यह बहुत जरूरी है कि साथ हम यह सुनिश्चित करें कि यह गलत हाथों में ना जाए। यह हमारे युवाओं को बर्बाद कर सकता है।' 

प्रधानमंत्री मोदी यहां "India's Technology: Evolution and Revolution" विषय पर बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि समुद्र से लेकर साइबर तक नए-नए खतरे उभरे हैं। वैश्विक प्रतिस्पर्धा में टेक्नालॉजी एक बड़ी भूमिका निभा रहा है। यह भविष्य की अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था को आकार देने की कुंजी है। प्रौद्योगिकी और डेटा आज नए हथियार बन गए हैं। डिजिटल युग हमारे चारों ओर सब कुछ बदल रहा है। इसने राजनीति, अर्थव्यवस्था और समाज को फिर से परिभाषित किया है।'

यह भी पढ़ें: 20 साल में अमेरिका से ज्यादा अमीर हुआ चीन, दुनिया के सबसे अमीर देशों में नंबर वन

बता दें कि हाल ही में पीएम मोदी कि अध्यक्षता में क्रिप्टो करेंसी को लेकर उच्च स्तरीय बैठक हुई थी। वहीं इस हफ्ते सोमवार को वित्त मामलों के लिए गठित संसद की स्थायी समिति ने भी क्रिप्टो करेंसी को लेकर चर्चा हुई थी। हालांकि, इस बैठक में यह निष्कर्ष निकल कर सामने आया कि केंद्र सरकार का मानना है कि क्रिप्टो करेंसी को रोका नहीं जा सकता है, लेकिन इसका रेगुलेशन जरूरी है।