MP Subsidy Scam: किसानों की सब्सिडी में करोड़ों का घोटाला, निजी कंपनियों को गलत ढंग से दिए गए ऑर्डर

Kedar Shankar Sirohi: कांग्रेस के किसान नेता ने बताया 240 करोड़ का घोटाला, किसानों की सब्सिडी हड़पने का मध्य प्रदेश कृषि विभाग का नया खेल

Updated: Oct 23, 2020, 01:35 PM IST

MP Subsidy Scam: किसानों की सब्सिडी में करोड़ों का घोटाला, निजी कंपनियों को गलत ढंग से दिए गए ऑर्डर
Photo Courtesy: Krishisamadhan

भोपाल। मध्य प्रदेश कृषि विभाग में सरकार की नाक के नीचे नियमों की खुली अवहेलना की जा रही है। कृषि विभाग द्वारा जिला स्तर से निजी कंपनियों को करोड़ों रुपये के सप्लाई ऑर्डर जारी किए जा रहे हैं। प्रदेश के किसानों की सब्सिडी हड़पने का कृषि विभाग का यह नया खेल है। कांग्रेस से जुड़े किसान नेता केदार शंकर सिरोही ने इसे 240 करोड़ रुपये का घोटाला बताया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक मार्कफेड से रेट अप्रूवल और एमपी एग्रो के दिशा-निर्देशों की अनदेखी करते हुए रीवा जिले में सीधे एक प्राइवेट कंपनी को आधा दर्जन से ज्यादा जैव उत्पादों का सप्लाई आर्डर दिया है। बताया जा रहा है कि यह खेल प्रदेश के कई जिलों में जारी है। इतना ही नहीं सप्लाई ऑर्डर्स में लिखा गया है कि हेडऑफिस के निर्देशानुसार सामाग्री का ऑर्डर जारी किया गया है। 

ऑर्डर पाने वाली कंपनी भी है डिफॉल्टर

हैरान करने वाली बात यह है कि जिस कंपनी को करोड़ों रुपए के सप्लाई ऑर्डर जारी किए गए हैं उसकी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट का कोई अता-पता नहीं है। कंपनी का नाम बिजनेस एग्रो प्राइवेट कोऑपरेटिव है जिसका साइनबोर्ड भोपाल के रिहायशी इलाके में लगा हुआ है। जानकारों की मानें तो रिहायशी इलाकों में न तो ऐसी किसी कंपनी को खोलने का लाइसेंस जारी होता है न ही मैन्युफैक्चरिंग कार्य संभव है।

240 करोड़ रुपए का घोटाला

किसान नेता व मध्य प्रदेश किसान कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केदार शंकर सिरोही ने इस पूरे मामले को 240 करोड़ रुपये का घोटाला बताया है। सिरोही ने इस खेल को किसानों के साथ धोखा और छल बताते हुए पूछा है कि इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान, कृषि मंत्री कमल पटेल और गिर्राज दंडौतिया से पूछा है कि इन्हें किसका संरक्षण प्राप्त है जो वे किसानों के साथ धोखा कर रहे हैं।