Eagle Seeds: कमल पटेल के बयानों में सख्ती, बर्ताव में दिखावा

Congress: किसान नेता केदार शंकर सिरोही ने कहा किसानों से धोखे पर मंत्री कमल पटेल सिर्फ़ बातें न करें, अफ़सरों से कार्रवाई करवाएँ

Updated: Aug 18, 2020 06:26 AM IST

Eagle Seeds: कमल पटेल के बयानों में सख्ती, बर्ताव में दिखावा

इंदौर। मध्यप्रदेश में अमानक बीज बेचने कर किसानों के साथ धोखा करने वाली इंदौर की बीज कंपनी ईगल सीड्स के विरुद्ध अबतक कोई ठोस करवाई नहीं कि गई है। जबकि कृषि मंत्री कमल पटेल ने इस कंपनी पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। वे बार बार किसानों को राहत देने के लिए बीज और खाद विक्रेताओं और कम्पनियों पर सख्ती की बात कर रहे हैं मगर सारी सख्ती दिखावा साबित हो रही है।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने बयान जारी कर बताया था कि इंदौर की ईगल सीड्स कंपनी द्वारा अमानक बीजों की बिक्री के संबंध में निरंतर शिकायतें प्राप्त हो रहीं थी। इसके बाद कंपनी के बीजों के 15 सैंपल लिए गए थे जिसमें 14 सैम्पल अमानक पाये गये हैं। इसलिए कंपनी के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश उप संचालक कृषि (इंदौर) को दिये गए हैं। 28 जुलाई को दिए गए इस आदेश के बाद भी अब तक कम्पनी के विरुद्ध कोई लीगल एक्शन नहीं ली गई है। 

कृषि विभाग की इस लापरवाही पर मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केदार शंकर सिरोही ने इंदौर डीडीए के सामने धरना देने का एलान किया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार अमानक व नकली बीज बनाने वाली कंपनियों पर पहले करवाई की प्रक्रिया शुरू कर रही है और बाद में मामले को रफा-दफा करने का खेल कर रही है।

Click Indore : नकली बीज बेचने वाली कंपनी ईगल सीड्स कंपनी के खिलाफ होगी एफआईआर

केदार ने सोमवार को बयान जारी कर पूछा है कि इंदौर डीडीए कृषि मंत्री के बातों का अवहेलना क्यों और कैसे कर रहा है? डीडीए द्वारा किस लालच या दबाव में करवाई को रोका जा रहा है? कांग्रेस नेता ने इस धोखाधड़ी के लिए इंदौर डीडीए के सामने धरना देने का भी एलान किया है। उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से पूछा है कि क्या वे किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाली कंपनी ईगल सीड्स को डीडीए द्वारा बचाने के इस प्रकरण में इंदौर डीडीए के खिलाफ मेरी लड़ाई में मुझे साथ देंगे? उन्होंने कहा है कि डीडीए के विरुद्ध इस लड़ाई की शुरुआत वे ज्योतिरादित्य के पिता दिवंगत माधवराव सिंधिया की प्रतिमा पर माल्यर्पण के साथ करेंगे।

Click MP: एक म्यान में तेरह तलवार, टॉपअप से चल रही एमपी सरकार

बता दें कि इंदौर की बीज निर्माता कंपनी ईगल सीड्स के बीज के खिलाफ लगातार शिकायतें आ रही थी। इसके बाद कंपनी के बीजों के 15 सैंपल लिए गए थे। इन सैंपल को जांच करने के बाद पता चला था कि इनमें 14 सैंपल अमानक हैं।

मामले में कृषि मंत्री कमल पटेल ने मीडिया से कहा था कि यह किसानों के साथ धोखाधड़ी है और इसके लिए कंपनी के खिलाफ रासुका के तहत करवाई की जाएगी। उन्होंने उस दौरान कहा था कि किसानों के साथ फर्जीवाड़ा करने वालों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने इंदौर कृषि विभाग के उपसंचालक को कंपनी के खिलाफ एफआईआर करने के निर्देश दिए थे। लेकिन एक महीने से ज्यादा समय के बाद भी अबतक इस कंपनी के खिलाफ कोई ठोस करवाई नहीं कि गई है और जांच के नाम पर खानापूर्ति हुई है जो सरकार और प्रशासन के कार्यशैली पर सवाल खड़ा करता है।