आप सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं साहब, पीएम मोदी के नाम पत्र लिखकर किसान ने की आत्महत्या

कर्ज में डूबा था मृतक किसान, पीएम मोदी को संबोधित पत्र में लिखा- आज, मैं आपकी निष्क्रियता के कारण आत्महत्या करने को मजबूर हूं।

Updated: Sep 20, 2022, 12:42 PM IST

आप सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं साहब, पीएम मोदी के नाम पत्र लिखकर किसान ने की आत्महत्या

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे जिले में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 42 वर्षीय किसान ने पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर आत्महत्या कर ली। सुसाइड से पहले उसने पीएम मोदी को संबोधित एक नोट भी लिखा और उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। साथ ही लिखा कि, 'आज, मैं आपकी निष्क्रियता के कारण आत्महत्या करने को मजबूर हूं।'

मामला जुन्नार तहसील के वडगांव आनंद गांव का है। किसान दशरथ केदारी ने बीते शनिवार को कीटनाशक खाया और फिर तालाब में कूद गया। पुलिस ने बताया कि केदार ने प्याज की खेती की थी। लेकिन फसल का संतोषजनक मूल्य नहीं मिलने के कारण उन्होंने 1.5 लाख से 2 लाख रुपये की कृषि उपज का भंडारण किया। उन्होंने अनुमान लगाया कि इस बार उन्हें बेहतर कीमत मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बारिश से प्याज भी खराब हो गया है। केदारी को सोयाबीन और टमाटर की फसल को भी नुकसान हुआ है और उसने साहूकारों से कर्ज भी ले रखा है।

मराठी में पीएम मोदी को संबोधित नोट में कहा गया है, 'आज, मैं आपकी निष्क्रियता के कारण आत्महत्या करने को मजबूर हूं। कृपया हमें उचित मूल्य दें। खेती जुए की तरह हो गई है। हम न्याय के लिए कहां जाएं? किससे संपर्क करें? आप सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं साहब।' पत्र में किसान केदारी ने कोरोनोवायरस महामारी और भारी बारिश के कारण हुए नुकसान के कारण किसानों की दयनीय स्थिति के बारे में भी लिखा है। 

किसान की मौत के मामले में अलेफाटा पुलिस स्टेशन में आकस्मिक मृत्यु का केस दर्ज किया गया है और केदारी की मौत के पीछे के कारणों की पुष्टि के लिए जांच शुरू की गई है। NCP ने इस मामले में महाराष्ट्र सरकार की आलोचना की है। एनसीपी प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन (17 सितंबर) पर जुन्नार (पुणे जिले में) के किसान दशरथ लक्ष्मण केदारे ने आत्महत्या कर ली। हम मोदी सरकार की निंदा करते हैं। जब कोई अन्नदाता आत्महत्या करता है, तो सरकार को इस पर जवाब देना होता है।’