फाइजर ला रहा कोरोनारोधी टैबलेट, 89% प्रभावशील दवा देगी इंजेक्शन से छुटकारा

फार्मा कंपनी मर्क के बाद अब फ़ाइजर भी लाएगा कोरोनारोधी टैबलेट Paxlovid, 89% प्रभावशील, 100% मृत्यु से सुरक्षा, जल्द जारी करेंगे गंभीर बीमारियों से ग्रस्त टेस्ट सब्जेक्ट के साथ अंतिम परीक्षण परिणाम

Updated: Nov 06, 2021, 10:11 AM IST

फाइजर ला रहा कोरोनारोधी टैबलेट, 89% प्रभावशील दवा देगी इंजेक्शन से छुटकारा
Photo Courtesy: AP News

वाशिंगटन। कोरोना महामारी के लिए वैक्सीन बनाने वाली फार्मा कंपनियों में से एक फाइजर में दावा किया है कि उसने कोरोना के खिलाफ एक एंटीवायरल गोली बनाई है। साथ ही इस टैबलेट को लेकर उनका दावा है कि यह पीड़ित के अस्पताल में भर्ती होने और मृत्यु की संभावना में 89 प्रतिशत तक कमी लाने में सक्षम है। बता दें कि ना केवल अमेरिका बल्कि दुनिया भर के लगभग सभी देश कोरोना के विरुद्ध अब तक इंजेक्शन का ही इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि मर्क जैसी कुछ कंपनियों ने महामारी के विरुद्ध टैबलेट बनाने में और अच्छे नतीजे पाने में सफलता भी हासिल की है।

फाइजर ने बताया है कि वह इस कोरोना रोधी गोली के अंतिम परीक्षण परिणामों को प्रस्तुत कर इसके उपयोग की अनुमति के लिए आवेदन करेगा। कंपनी ने फिलहाल 775 वयस्कों पर किए अपने अध्ययन के प्रारंभिक परिणाम शुक्रवार को जारी किए हैं। फाइजर द्वारा तैयार इस कोविड-19 एंटी वायरल गोली का ब्रांड नाम Paxlovid होगा जो दिन में दो बार दी जाएगी। प्रयोग के तौर पर फाइजर ने इस गोली को 1219 लोगों पर टेस्ट किया है। टेस्ट सब्जेक्ट में शामिल अधिकतर लोग मोटापे या किसी अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित थे अथवा अधिक उम्र के थे। 

यह भी पढ़ें: भारत में ही रहेगा अंबानी परिवार, लंदन शिफ्ट होने के दावों को किया ख़ारिज, घर नहीं रिसॉर्ट का हो रहा निर्माण

एक अन्य एंटीवायरल के साथ कंपनी की दवा लेने वाले मरीजों की अस्पताल में भर्ती होने या एक महीने के बाद मृत्यु की संयुक्त दर में एक डमी गोली लेने वाले रोगियों की तुलना में 89 प्रतिशत की कमी थी। दवा लेने वाले एक प्रतिशत से कम रोगियों को अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता थी और किसी की भी मृत्यु नहीं हुई। तुलना समूह में सात प्रतिशत अस्पताल में भर्ती थे और सात मौत हुई थी।

फाइजर के मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी डॉ मिकेल डोलस्टन ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘हम उम्मीद कर रहे थे कि हमारे पास कुछ असाधारण था, लेकिन यह बहुत मुश्किल से देखने को मिलता है कि महान दवाएं 90 प्रतिशत प्रभावशीलता और मृत्यु से 100 प्रतिशत सुरक्षा के साथ आएं।’

फाइजर से पहले फार्मा कंपनी मर्क द्वारा बनाई गई कोरोनारोधी गोली फिलहाल खाद्य एवं औषधि प्रशासन के पास समीक्षा के लिए गई हुई है और उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इसे आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी दे दी जाएगी। इससे पहले ब्रिटेन ने भी गुरुवार को मर्क और रिजबैक बायोथेरोपैटिक्स द्वारा संयुक्त रूप से तैयार एंटीवायरल टैबलेट के प्रयोग की मंजूरी दे दी है।