न्यूजीलैंड में भारतीय मूल की पहली मंत्री बनीं प्रियंका राधाकृष्णन

Priyanca Radhakrishnan: लेबर पार्टी के टिकट पर 2017 में सांसद चुनी गई थीं प्रियंका, समाज के हाशिए पर रहने वालों की आवाज़ उठाने के लिए जानी जाती हैं प्रियंका

Updated: Nov 02, 2020, 06:37 PM IST

न्यूजीलैंड में भारतीय मूल की पहली मंत्री बनीं प्रियंका राधाकृष्णन
Photo Courtesy: Indian Express

ऑकलैंड। प्रियंका राधाकृष्णन न्यूजीलैंड सरकार में भारतीय मूल की पहली मंत्री बनी हैं। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने मंत्रीपद के लिए पांच नए चेहरों को जगह दी है, प्रियंका इनमें से एक हैं। हाल ही में हुए आम चुनाव में जेसिंडा आर्डर्न की लेबर पार्टी को भारी बहुमत मिला है। वे लगातार दूसरी बार देश की प्रधानमंत्री चुनी गई हैं। 

केरल के अर्नाकुलम में जन्मीं प्रियंका राधाकृष्णन ने अपनी शुरुआती पढ़ाई सिंगापुर में पूरी की। इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए वे न्यूजीलैंड चली गईं। 41 वर्ष की प्रियंका समाज के हाशिए पर रहने वाले लोगों की आवाज उठाने के लिए जानी जाती हैं। प्रियंका को न्यूजीलैंड सरकार में मंत्री बनाए जाने पर केरल की स्वास्थ्य मंत्री शैलजा टीचर ने उन्हें बधाई दी। शैलजा ने कहा कि यह पहली बार है जब कोई भारतीय न्यूजीलैंड की सरकार में मंत्री बना है। 

प्रियंका राधाकृष्णन को न्यूजीलैंड की सरकार में सामाजिक विकास और युवा कल्याण का पोर्टफोलियो दिया गया है। इससे पहले भी 2017 में उन्होंने लेबर पार्टी के टिकट पर सांसद का चुनाव जीता था। इस बार भी उन्होंने अपनी सीट बरकरार रखी।  

प्रियंका फिलहाल अपने पति के साथ ऑकलैंड में रहती हैं। वे 6 नवंबर को शपथ ग्रहण करेंगी। जेसिंडा आर्डर्न के नेतृत्व वाली सरकार की प्राथमिकता देश की अर्थव्यस्था को पटरी पर लाना है। जेसिंडा ने चेतावनी दी है कि अगर मंत्री अपना काम ठीक से नहीं करते हैं, तो उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।