स्पेन में 6 महीने बाद खत्म हुआ लॉकडाउन, कोरोना ख़त्म मानकर सड़क पर जश्न मनाने उतर आए लोग

स्पेन में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए पिछले 6 महीने से लागू नेशनल इमरजेंसी खत्म होते ही जश्न में डूबे लोग, सड़कों-चैराहों पर जश्न मनाते 450 लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज, देश ने 6 से ज़्यादा लोगों के एक साथ इकट्ठा होने पर लगाई है रोक

Updated: May 10, 2021, 12:31 PM IST

स्पेन में 6 महीने बाद खत्म हुआ लॉकडाउन, कोरोना ख़त्म मानकर सड़क पर जश्न मनाने उतर आए लोग
Photo Courtesy: DW

बार्सिलोना। स्पेन में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पिछले 6 महीने से लागू नेशनल इमरजेंसी को खत्म करने का ऐलान किया गया है। इसी के साथ लॉकडाउन को भी हटा दिया गया है। प्रतिबंधों में मिली इस छूट के बाद स्पेन में चारों ओर जश्न का माहौल है। शनिवार रात से ही लाखों की संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए और पाबंदियों से निजात को लेकर खुशियां मनाने लगे।

नेशनल इमरजेंसी और कर्फ्यू हटने के बाद लाखों की संख्या में लोग सड़कों पर इकट्ठा होकर कोरोना गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ाते दिखे। बार्सिलोना और मैड्रिड में युवा सोशल डिस्टेंसिंग के दिशानिर्देशों की परवाह किए बगैर सड़कों पर नाच-गाना करते दिखे। इस दौरान कई लोगों ने तो मास्क तक नहीं पहन रखी थी। स्पेन के लोगों की यह लापरवाही देखकर वहां बीते साल कोरोना के कोहराम की यादें ताजा हो गई।

यह भी पढ़ें: चीन 2015 से कोरोना को जैविक हथियार बनाने के लिए कर रहा था शोध, ऑस्ट्रेलियाई मीडिया रिपोर्ट में खुलासा

मैड्रिड की पुलिस ने सेंट्रल पुएर्ता डेल सोल स्क्वायर पर जमा वैसे लोगों को खदेड़ा जो बिना मास्क पहने ही जश्न मनाने आ गए थे और नाच गाना कर रहे थे। बार्सिलोना के समुद्री बीच पर भी लोगों ने जमकर पार्टियां की। इस दौरान लोग उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन करते दिखे जिन्हें अबतक हटाया नहीं गया है। मसलन स्पेन में 6 से ज्यादा लोगों के जुटने पर रोक है। लेकिन हजारों की संख्या में उमड़ी भीड़ को हटाने में पुलिस भी असहाय दिखी। सड़कों पर गश्त कर रही पुलिस वैन महज लाउडस्पीकर लगाकर यह चेतावनी देती रही कि 6 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर रोक है। 

मैड्रिड पुलिस ने बताया है कि राजधानी में ऐसे 450 से ज्यादा घटनाओं को लेकर रिपोर्ट दर्ज किया गया है जहां मौजूदा गाइडलाइंस का उल्लंघन किया जा रहा था। मैड्रिड के मेयर जोस लुइस मार्टिनेज-अल्मीदा ने स्थानीय लोगों के इन हरकतों की निंदा की है। लुइस ने कहा, 'फ्रीडम का मतलब यह नहीं कि सड़कों पर शराब पार्टियां की जाए। मैड्रिड में सड़कों पर शराब पीने की अनुमति नहीं है। हमें यह समझने की जरूरत है कि कर्फ्यू खत्म होने से महामारी नहीं खत्म हो गई है।'