स्पेन के प्रधानमंत्री का बड़ा ऐलान, 26 जून से सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनने से छूट देने का फैसला

स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज़ ने कहा कि अगले वीकएंड से मास्क के बिना बाहर निकल सकेंगे लोग, 26 जून से मास्क की अनिवार्यता खत्म, कैबिनेट में होगा आधिकारिक फैसला, दुनिया में कोरोना संक्रमित देशों में दसवें नंबर पर है स्पेन, 3,616,680 लोगों ने कोरोना को दी है मात

Updated: Jun 19, 2021, 12:11 PM IST

स्पेन के प्रधानमंत्री का बड़ा ऐलान, 26 जून से सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनने से छूट देने का फैसला
Photo Courtesy: euractiv

स्पेन के प्रधानमंत्री ने पेड्रो सांचेज़ ने देश में कोरोना के कम होते मामलों और कंट्रोल होती स्थिति के मद्देनजर पाबंदियां हटाने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा है कि यह आखिरी वीकएंड है जब लोग मास्क पहन रहे हैं, अगले वीक एंड के बाद मास्क पहनने का बाध्यता खत्म की जा रही है। स्पेन में अब 26 जून से लोगों के लिए मास्क पहनने की आवश्यकता को समाप्त किया जा रहा है। प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज़ ने शुक्रवार को अपने बयान में कहा है कि देश में अगले शनिवार याने 26 जून से बाहर मास्क पहनने की कानूनी आवश्यकता को हटाया जा रहा है। अब बिना मास्क के बाहर आने पर कानूनी कार्रवाई नहीं होगी। उनका कहना है कि यह “यह आखिरी सप्ताहांत होगा जब हम बाहर मास्क पहनेंगे, क्योंकि अगले 26 जून को हमें सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनना होगा।”

स्पेन के प्रधानमंत्री सांचेज का यह बयान बार्सिलोना के दौरे के दौरान आया है, उन्होंने यह भी बताया है कि जल्द ही कैबिनेट की विशेष बैठक में लिफ्टिंग को मंजूरी दे दी जाएगी। खबरों की मानें तो कैबिनेट की बैठक गुरुवार को होने वाली है। जिसमें फैसला पर मुहर लगेगी की शनिवार 26 जून से सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाने पर छूट दी जा रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब आने वाले दिनों में हमारी सड़कों में बिना मास्क के घूम सकेंगे। उनका कहना है कि अब लोग बिना मास्क पहने अपने शहरों की गलियों में जीवन का आनंद लेना शुरू कर सकेंगे। सरकार का यह फैसला सामाजिक दृष्टिकोण से बहुत अहम माना जा रहा है।

दरअस कोरोना महामारी की वजह से करीब एक साल से पहले मई 2020 से ही अन्य देशों की ही तरह स्पेन में भी सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य था, मास्क नहीं पहनने पर कानूनी कार्रवाई और जुर्माने का प्रावधान किया गया था। वहीं स्पेन की गलियों में भी 6 साल के बच्चों से ज्यादा के सभी लोगों को मास्क के बिना निकलने पर कार्रवाई की जा रही थी। कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन करने पर तगड़ा फाइन लगाया जा रहा था। 

और पढ़ें: थर्ड वेव आना तय, 6 से 8 हफ्तों में भारत में तीसरी लहर की संभावना, एम्स डायरेक्टर ने जताई चिंता

वहीं इस साल की शुरुआत में तो सी बीच पर भी लोगों को मास्क पहनने को कहा जा रहा था, लेकिन विरोध के स्वर उठने बाद में यह प्रतिबंध हटा दिया गया। इसके पीछे तर्क दिया गया था की धूप सेंकते या स्वीमिंग करते वक्त मास्क की जरूरत नहीं है। इस दौरान केवल सोशल डिस्टेंसिंग ही पर्याप्त है।

कोरोना मामलों के सबसे ज्यादा प्रभावित टॉप टेन देशों में स्पेन दसवें नंबर पर है। माना जा रहा है कि वहां मामलों में क मी आने के बाद छूट बढ़ती जा रही है। इस लिस्ट में अमेरिका टॉप पर है। अमेरिका में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 34,393,269 पहुंच गया है। दूसरे नंबर पर भारत है, जहां 29,822,764 मरीज संक्रमित रहे हैं। तीसरे नंबर पर ब्राजील जहां कुल मरीजों का आंकड़ा 17,802,176 तक पहुंचा है। ब्राजील में कोरोना का नया वेरियंट तबाही मचा रहा है। शुक्रवार को ब्राजील में कोरोना के 98,135 मरीज मिले हैं। 2,449 लोगों की मौत हुई हैं। 

 स्पेन में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 3,888,614 है, अब तक कुल 98,746 लोगों की मौत हो चुकी है। 3,616,680 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

  भारत में तीसरी लहर की आहट है, माना जा रहा है कि भारत मे 6 से 8 हफ्ते में कोरोना की तीसरी लहर आने वाली है। शुक्रवार को दुनिया भर में कोरोना के 4 लाख 897 नए केस मिले हैं। 8,523 लोगों की जान इस खतरनाक वायरस ने ले ली है। राहत की बात है कि 4 लाख 17 हजार 204 लोग कोरोना से रिकवर हुए हैं।