तालिबान ने पाकिस्तान को बताया अपना दूसरा घर, भारत के साथ अच्छे संबंध स्थापित करने की जताई इच्छा

हालांकि तालिबान ने अफगानिस्तान पर काबिज होने में पाकिस्तान की भूमिकाओं से इनकार किया है, इसके साथ ही उसने कहा है कि भारत और पाकिस्तान को एक साथ बैठकर अपने मसलों को हल करना चाहिए

Publish: Aug 26, 2021, 06:44 PM IST

तालिबान ने पाकिस्तान को बताया अपना दूसरा घर, भारत के साथ अच्छे संबंध स्थापित करने की जताई इच्छा

नई दिल्ली। तालिबान के प्रवक्ता ने पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल से बातचीत के दौरान पाकिस्तान को तालिबान के दूसरे घर की संज्ञा दी है। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने एआरवाय न्यूज़ चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि पाकिस्तान तालिबान के लिए दूसरे घर जैसा है। हालांकि तालिबान के प्रवक्ता ने अफ़गानिस्तानी की पूर्ववर्ती सरकार से संघर्ष में पाकिस्तानी सरकार की भूमिकाओं को खारिज भी किया है। 

तालिबान के प्रवक्ता मुजाहिद ने कहा है कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान की सीमाएं एक दूसरे से मिलती हैं। इससे भी अहम बात यह है कि दोनों ही देश मजहबी तौर पर एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। इसके अलावा तालिबानी प्रवक्ता ने कहा है कि उनकी हुकूमत पाकिस्तान के साथ अपने संबंध और मजबूत करने की कोशिश करेगी। 

इतना कहने के बाद तालिबानी प्रवक्ता ने कहा कि अफगानिस्तान की पिछली सरकार के साथ हुए संघर्ष में पाकिस्तान की कोई भूमिका नहीं थी। मुजाहिद ने कहा कि पाकिस्तान ने कभी हमारे देश के आंतरिक मसलों में कोई हस्तक्षेप नहीं किया। तालिबानी प्रवक्ता ने कहा कि तालिबान अफगानिस्तान में एक स्थिर सरकार गठित करना चाहता है, जो कि इस्लाम पर आधारित हो। 

भारत के साथ संबंधों पर बात करते हुए तालिबान के प्रवक्ता ने कहा कि भारत इस क्षेत्र का महत्वपूर्ण हिस्सा है। तालिबान भारत के साथ अच्छे संबंध स्थापित करना चाहता है। लेकिन भारत को इसके लिए अफगानिस्तान के हितों के अनुरूप अपनी नीतियां तय करनी होंगी। पाकिस्तान और भारत के रिश्तों में व्याप्त कड़वाहट को लेकर मुजाहिद ने कहा कि दोनों देशों को आपस में बैठकर अपने सभी मसलों को हल करना चाहिए।