US Election 2020: अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू, बुधवार सुबह तक खत्म होगा मतदान

डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के बीच है मुकाबला, ज्यादातर सर्वे में बाइडेन आगे रहे हैं

Updated: Nov 04, 2020, 08:31 AM IST

US Election 2020: अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू, बुधवार सुबह तक खत्म होगा मतदान
Photo Courtesy: Zee News

अमेरिका में कोरोना संकट के बीच राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हो गई है। मतदान से पहले मौजूदा राष्ट्रपति और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप और उन्हें चुनौती देने वाले डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन ने मतदाताओं से अपने पक्ष में वोट देने की अपील की।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए न्यूयॉर्क, वर्जीनिया और न्यूजर्सी में वोटिंग शुरू हो गई है। अमेरिका के न्यू हैम्पशायर के कस्बों मिल्सफील्ड और डिक्सविले नॉच में सबसे पहले मतदान हुआ। वोटिंग दिन से पहले काफी संख्या में लोग मेल या बैलट के जरिए वोट कर चुके हैं। बताया जा रहा है कि मेल या बैलट के जरिए करीब 9 करोड़ 30 लाख लोग वोट कर चुके हैं, जो 2016 में पड़े कुल 13 करोड़ 88 लाख वोटों का दो तिहाई है। इस साल वैध मतदाताओं की सूची में कुल 23 करोड़ 90 लाख नाम हैं।

डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन अब तक ज्यादातर सर्वेक्षणों में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आगे रहे हैं। लेकिन बहुत से जानकारों का मानना है कि सर्वेक्षणों से अलग दोनों उम्मीदवारों के बीच काफी कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है। आपको बता दें कि चुनाव जीतने के लिए बाइडेन या ट्रंप को कुल 538 इलेक्टोरल मतों में से कम से कम आधे यानी 270 वोटों की जरूरत होगी। 

दरअसल अमेरिका में चुनाव का तरीका भारत से काफी अलग है। वहां हर राज्य में एक निश्चित संख्या में इलेक्टोरल कॉलेज होते हैं। मिसाल के तौर पर कैलिफोर्निया में 55 इलेक्टोरल कॉलेज हैं। ये सारे इलेक्टोरल कॉलेज उस प्रांत में सबसे ज्यादा वोट पाने वाले उम्मीदवार के खाते में चले जाते हैं। इसे 'विनर टेक्स ऑल' यानी 'सारे वोट विजेता के' वाला सिस्टम भी कहा जाता है। अमेरिका के अलग-अलग राज्यों में मतदान खत्म होने का समय अलग-अलग है। सभी राज्यों में मतदान कल यानी बुधवार की सुबह तक खत्म हो जाने की उम्मीद है, जिसके थोड़ी देर पर बाद मतदाताओं के रुझान मिलने लगेंगे। इस बार पोस्टल बैलेट का अधिक इस्तेमाल होने की वजह से वोटों की गिनती में ज्यादा वक्त लगने के आसार हैं। ऐसे में हो सकता है अंतिम परिणाम आने में कई दिन लग जाएं। हालांकि डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी दी है कि अगर परिणाम सामने आने में ज्यादा वक्त लगा तो उनके वकील कानूनी उपाय तलाशने में पीछे नहीं रहेंगे।